कोरोना से निपटने के लिए कोवैक्सिन का मानव परीक्षण शुरू, भारत बायोटेक ने किया था विकसित

कोविड-19 का देशभर में कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. रोजाना कोरोना से संक्रमित मामलों की संख्या सामने आ रही है. वहीं, कोरोना से निपटने के लिए भी देश में बने संभावित टीके कोवैक्सिन का सोमवार को भुवनेश्वर के इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस एंड एसयूएम अस्पताल में मानव परीक्षण शुरू हो गया है. कोवैक्सिन टीके को भारत बायोटेक ने विकसित किया है. ह्यूमन ट्रायल (मानव परीक्षण) के प्रधान जांचकर्ता डॉक्टर ई वेंकट राव ने कहा कि कोवैक्सिन टीका कुछ लोगों को लगाया है, जिन्होंने खुद इस ट्रायल का हिस्सा बनने की इच्छा जताई थी.

डॉक्टर ई वेंकट राव ने बताया कि कड़ी जांच पड़ताल के बाद ही वॉलेंटियर्स को कोवैक्सिन टीका लगाया गया. इस बीच वॉलेंटियर्स में भी खासा उत्साह देखने को मिला. बता दें कि आईसीएमआर ने कोरोना के संभावित टीके का परीक्षण करने के लिए देशभर में 12 चिकित्सा संस्थानों का चयन किया है. इस काम के लिए ओडिशा में सिर्फ आईएमएस एंड एसयूएम अस्पताल को चुना गया है. इससे इतर देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मामलों की बात करें तो भारत में इससे संक्रमित लोगों की संख्या 14,83,156 पहुंच चुकी है.