You are currently viewing फतेहपुर:कोटेदार के भाई ने ग्रामीणों को भड़का कर अपने ही चचेरे भाई कोटेदार के ऊपर लगाया राशन घटतोली का आरोप खंड विकास अधिकारी को लिखा गया प्रार्थना पत्र

पूरा मामला जनपद फतेहपुर के खखरेरू थाना अंतर्गत बैरी गांव का है जहां पर कोटेदार के चाचा के लड़के ने कुछ ग्रामीणों को भड़का कर कोटेदार के ऊपर राशन घटतौली करने का आरोप लगाया है कहा कि कोटेदार यूनिट के अनुसार राशन वितरण ना करके बल्कि राशन कम करके देता है

आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि बैरी गांव में 388 पात्र गृहस्थी और 30 अंतोदय कार्ड है और टोटल 418 कार्ड धारक हैं
जिनका फ्री राशन वितरण हेतु कोटेदार को 79 कुंटल 35 किलो राशन दिया गया जिसमें अभी लगभग 35 से 40 लोगों का फिंगर नहीं लग पाया है

कोटेदार ने बताया कि राशन वितरण कार्य जारी है पूर्व ग्राम प्रधान मानसिंह के कहने पर कोटेदार द्वारा बाहर से आए हुए लोग जो कि रोड बनाने का काम करते हैं उन्हें 35 किलो राशन फ्री में दिया गया ताकि अपने क्षेत्र में इस कोरोना जैसी खतरनाक महामारी के चलते कोई भी व्यक्ति भूखा ना सोए कोई भूखा ना रहे इसके अलावा अभी 5 कुंटल 80 किलो राशन शेष बचा है

आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि जब हमारी यूएफटी News24 और केपी न्यूज़ की टीम मौके पर पहुंची और जनता से बात की तो पता चला कि कोटेदार द्वारा हर महीने राशन वितरित किया जाता है रही बात राशन कम वितरण करने की तो आपको बता दें कि सारी बोरियों में पूरा वजन सही-सही नहीं निकलता तो मजबूरन कोटेदारों को उन्नीस बीस करके काम चलाना पड़ता है

मौके पर हमारी टीम ने बोरियों का वजन भी कराया जिसमें गेहूं के वजन में 45 किलो 800 ग्राम तथा चावल की बोरी का वजन 48 किलो 720 ग्राम पाया गया अब ऐसी स्थिति में कोई कोटेदार इन कार्ड धारकों को पूरा पूरा राशन कैसे मुहैया करा पाएगा जब पूरा राशन आता ही नहीं है तो कोटेदार क्या अपना घर खेत बेच कर राशन पूरा करेगा

अगर राशन उठान केंद्र से पूरा राशन मिलता तो शायद यह राशन घटतोली की नौबत ही नहीं आती ऐसे में तो स्वाभाविक रूप से कोटेदार ही पिस्ता है राशन उठान केंद्र से बिना तोल के राशन दिया जाता है और सादे कागज पर यह लिखवाया जाता है कि राशन तोल कर दिया गया

ऐसे में कहीं ना कहीं संबंधित अधिकारी भी इस भ्रष्टाचार में शामिल हैं कोटेदार अकेला सारा शोषण नहीं करता जब कोटेदार को पूरा राशन मिलेगा तो ही कोटेदार द्वारा पूरा राशन वितरण किया जा सकता है अन्यथा ऐसे ही चलता रहेगा

इल्जाम तो लगते रहेंगे साहब कोटेदार पूछते रहेंगे अधिकारी मजा लूटते रहेंगे पब्लिक आवाज उठाती रहेगी और आवाज दबती रहेगी शायद इस भारत देश में भ्रष्टाचार खत्म होने का तो कोई सवाल ही नहीं है

फतेहपुर से विशेष संवाददाता राम मणि पांडे की खास रिपोर्ट