मरकज से लौटे 10 महिला-पुरुष का रिपोर्ट निगेटिव

शैलेंद्र यादव

पडरौना। दिल्ली मरकज से आकर कुशीनगर में छिपे सभी 10 महिला पुरुषों को पुलिस ने खोज निकाला है। यह सभी असोम के निवासी हैं। इन्हें जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। सभी के सैंपल जांच के लिए गोरखपुर भेजे गए हैं। केन्द्र सरकार ने सूचना दी थी कि दिल्ली मरकज से असोम के निवासी दस जमाती 9 मार्च को कुशीनगर के लिए चले थे। इनमें पांच पुरुष और इतनी ही महिलाएं शामिल थीं। अभी तक वह असोम नहीं पहुंचे हैं। एसपी कुशीनगर ने सभी थानों की पुलिस को इनकी तलाशी में लगा दिया। सोमवार को पडरौना कोतवाली पुलिस ने जंगल अमवा गांव से दो पुरुष जमातियों को पकड़ लिया। उधर शाम को नेबुआ नौरंगिया पुलिस ने भी पटेहरा गांव में एक व्यक्ति के घर छिपे दो जमातियों को पकड़ा। पांचवा जमाती देर शाम को खुद चलकर पडरौना कोतवाली पहुंच गया। उससे पता चला कि महिलाएं भी पडरौना से सटे एक गांव में छुपी हैं। पुलिस ने इन सभी पुरुष व महिलाओं को जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया।
एसपी कुशीनगर विनोद कुमार मिश्र ने बताया कि जमाती दिल्ली से 9 मार्च को कुशीनगर के लिए चले। 11 मार्च को हाटा के एक हाजी ने उन्हें शरण दी। लॉकडाउन होने के बाद वही इन्हें अलग-अलग गांवों में अपने मददगारों के जरिए शरण दे रहा था। असोम निवासी सभी दस जमातियों व उनके आधा दर्जन से अधिक शरणदाताओं पर महामारी एक्ट व लॉकडाउन तोड़ने का केस दर्ज किया गया है। सभी के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। यदि जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी तो इन सभी पर कोरोना अपराधी का भी केस दर्ज किया जाएगा।