लाँकडाउन से झुग्गियों में कैद एक हजार परिवार संकट में

  • कसया तहसील क्षेत्र का मामला

सरवर आलम वारसी की खास रिपोर्ट

कुशीनगर। कोरोना वायरस के चलते मंगलवार को यूपी में लॉकडाउन होने के बाद कुशीनगर जिले में झुग्गियों में रहने वाले मजदूरों में बड़ा संकट खड़ा हो गया है।
कसया तहसील क्षेत्र अंतर्गत झुग्गी बस्तियों में रहने वालों के सामने खानपान का बड़ा संकट पैदा हो गया है। शिवराजपुर,सखवानिया खुर्द,झुग्वा में तीन सौ से ज्यादा परिवार रहते हैं। एक हफ्ते से इन्हें कोई काम नहीं मिला है। पानी का इंतजाम नहीं है, ऐसे में बार-बार हाथ धोना दूर की बात है। उक क्षेत्र में दो दिन से करीब एक हजार परिवार झुग्गियों में ही बंद हैं शिवपुर नूरी टोला ,भटवलिया जैसे सैकड़ो स्थानों पर झुग्गियों में बसर करने वाले प्रति दिन मेहनत मजदूरी करके अपना जीवन व्यतीत करते हैं लेकिन लाकडाउन के बाद इन लोगों का क्या होगा यह एक सवाल हैं कि कोरोना जैसे गंभीर वायरस को लेकर यूपी में सीएम ने लाकडाउन कर दिया हैं, ऐसे में झुग्गियों में रहने वाले परिवारो से प्रशासनिक अमला कोसो दूर हैं फिर यह परिवार कैसे जीवित रहेंगा और कैसे घरों में रह कर लाकडाउन के आदेशों का पालन करेगा ? झाड़ू बेचने वाली कहती है कि कोई खरीदार ही नहीं है। सभी परेशान हैं राशन भी नहीं हैं अब भूख पेट रहना होगा अब क्या करेंगे? बच्चों को क्या खिलाएंगे? मजदूरों में कोरोना का कम भुख का ज्यादातर चिंता है।