लाँक डाउन में कस्बा इंचार्ज गाजियाबाद के लिए रवाना,विभाग में हड़कंप

  • एसपी के तमाम फरमान पर फिरा पानी, एक नेता के गाड़ी से रवाना


कुशीनगर जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर पुलिस कप्तान लाँक डाउन को सफल बनाने के लिए स्वतः सड़को पर खड़ा होकर आने जाने वाले राहगीरों से पूछताछ कर घर में रहने की अपील कर रहे हैं। साथ ही जिले की पुलिस भी अपने कप्तान को देख दिन रात इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए ड्यूटी कर रहे हैं, तो कुछ पुलिसकर्मी कोरोना के इस कहर में भी बिना अनुमति बाहर घूम रहे हैं।

कसया थाने में तैनात कस्बा चौकी इंचार्ज के पद पर तैनात एक उपनिरीक्षक के क्षेत्र में लाँक डाउन में भी बड़े स्तर पर जहा कालाबाजरी का खेल खेला जा रहा है वही साहब इस जनपद से गैर जनपद घूमने के लिए बेताब दिखे। जानकारो की माना जाए तो साहब इस वैश्विक महामारी में अपने नैतिक कर्तव्यों का निर्वहन न करते हुए जिले के पुलिस कप्तान विनोद कुमार मिश्र के सख्त तेवर को अनदेखा करके बीते 30 अप्रैल को एक समाजसेवी के चार पहिया गाड़ी लेकर गाजियाबाद निकल लिए। बढ़ते कोरोना का कहर और लाँक डाउन के बीच साहब को बिना अनुमति बाहर जाने की चर्चा सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर होती देखी गई। वैश्विक महामारी को लेकर जहा जिले की पुलिस घरों में रहने के लिए लोगों को समझाने बुझाने में लगी हैं तो वही साहब इस संकट में भी जनपद से बाहर जाना उचित समझ बैठे ऐसे में सवाल खड़ा होना लाजिमी है कि इस संक्रमण पर रोकथाम लगाने के लिए तमाम बाहर से आए लोगों को कोरेन टाइन किया जा रहा है तो अनवाश्यक घूम रहे लोगों पर पुलिस केस भी दर्ज कर रही हैं तो क्या साहब के वापसी के बाद जिम्मेदार कोरेन टाइन कराएगे ? जैसे कि जाना जा सकता है कि कसया थाने के एक उपनिरीक्षक बिना अनुमति गोरखपुर रवाना हुए थे और लौटने के बाद उनको भी कोरेन टाइन कर दिया गया। जबकी लोग कप्तान का सख्त तेवर और साहब का गाजियाबाद के लिए अचानक रवाना होना दोनों पर अटकलें लगा रहे हैं। वही इस संक्रमण को मद्देनजर लोगों में कई सवाल खड़ा किए जा रहा हैं। इस संबंध में जब कसया सीओ से उनका पक्ष जानने का प्रयास किया गया तो फोन नही उठा।