विदेशों में जमा धन लाकर गरीबों की सेवा में लगाओ वरना आगे काम नहीं आएगा-महाराज जी

बच्चों को ईश्वरवादी,ख़ुदा परस्त बनाओ वरना दुष्ट बन जाएंगे

लोक कल्याण,राष्ट्र कल्याण के लिए देश-विदेश में शाकाहारिता,नशा मुक्ति का प्रचार-प्रसार करने वाले विख्यात सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज ने नागरिकों से अपील,प्रार्थना है कि अगर आप शाकाहारी हो जाओगे,शराब-मांस का उत्पादन और बिकना बन्द हो जाये। सब प्रकृति के नियम कायदे के अनुसार काम करने लगे ।फिर देखों कुदरत से मदद मिलती है कि नहीं मिलती है । ईश्वरवादी,ख़ुदा परस्त बनना बेहद ज़रूरी है । हम ये नही कहते कि हिन्दू को मुसलमान बनाओ,मुसलमान को हिन्दू बनाओ,हिन्दू को सिक्ख बनाओ,सिक्ख को ईसाई
बनाओ । आप जैसे हो , जहा हो,जिस भी जगह पर हो ऐसे ही रहों । लेकिन थोड़ी देर उस मालिक को भगवान को,ख़ुदा को पुकारो तो सही, जिस नाम को आप जानते हो, किसी ने बताया हो,माता-पिता ने बताया,मित्र ने या गुरु ने बताया हो कि ये गॉड है,ख़ुदा है, भगवान है। अगर याद नही करोगे,उनके नाम को याद नही करोगे,बच्चों को याद नही करोगे तो आप समझ लो,बच्चे दुष्ट बन जाएंगे । जिनको आप आतंकवादी,रूढ़िवादी,कट्टरवादी कहते हो ये सब बन जाएंगे । गुनहगार बन जाएंगे इस धरती के आप ये समझो जब गुनहगार बन जाएंगे,आँखों मे जब ख़ून सवार हो जाता है तो किसी की हिंसा हत्या करने में संकोच नही करते है । लेकिन आपको तो इंसान बनाना है । हैवानियत को खत्म करना है,हैवान को इंसान बनाना। है । तो आप ऐसा बनाओ बच्चों को की आपका भी नाम ऊंचा कर दे और कुल-खानदान का नाम भी ऊंचा कर दे ।
तो जितने भी विश्व के लोग है आज 13 अप्रैल 2020 को सब लोगों से हमारी प्रार्थना है कि देश-विदेश के जितने भी लोग है,किसी भी जात-मज़हब के है,आप अपने परिवार को ईश्वरवादी बनाओ,खुद परस्त जिनको कहते है ।

रोटी खिलाना बड़ा पूण्य का काम है,किसी को भूखा मत सोने दो.

महाराज जी ने कहा ईश्वर पर विश्वास करने लग जाये,उससे प्रेम करने लग जाये तो भक्त के बस में होते है भगवान, तो भक्त बन जाओ । तो ये सारी लीला उनकी है,सारी ख़िलक़त उनकी है उस ख़ुदा, पाक परवर दीगार की है गॉड की है तो वो जब खुश हो जाएगा तो आपको अपना बच्चा मान लेगा ।तो अपने बच्चे को कोई तकलीफ देता है ?
कोई नही । महाराज जी ने ये भी आह्वान किया कि प्रेमियों इस वक्त लोग तकलीफ में है । कौन लोग तकलीफ में है ? जिनके पास खाने की व्यवस्था नही है,जो रोज़ कमाते थे,शाम को खाते थे ।
उनकी रोजी की समस्या हो गई है ,रोज़ी छूट गई है lock down में काम सब बन्द हो गया, तो अब रोटी की समस्या आ गई है । तो रोटी खिलाना बड़ा पूण्य का काम होता है तो आप अपने हिस्से मेसे कुछ निकालकर उनको खिलाओ । आपके पड़ोस में,आपकी जानकारी में,आपके गाँव मे हो जिसके पास ना हो,उसको आप भूखा मत सोने दो, उसे खिलाओ देखों धन, पुत्र,परिवार वही जो अच्छे काम मे आता है ।

विदेशों में जमा धन ले आओ वरना आपका नही रह जायेगा

महाराज जी ने कहा बहुत से लोग है जो विदेशों में बहुत सा पैसा जमा किये है हिंदुस्तान के ही लोग बहुत सा पैसा जमा किये है । टॉप के लीडर ऐसे नही है जिनका विदेश में पैसा जमा ना हो ।टॉप के व्यापारी, बड़े-बड़े कारखानों के मालिक सबका पैसा है विदेश में । बड़े-बड़े अधिकारी इन लोगों का भी विदेशों में पैसा जमा है । आप ये समझो कि अगर आदमी मेहनत , ईमानदारी से काम करे तो इतना पैसा जमा करने के लिए आ ही नही सकता ।तो ये पैसा किसका है? इन्ही गरीब जनता का है । इन्ही की मेहनत और कमाई से ये पैसा इन लोगों के पास पहुँचा है ।तो अब इन लोगो पर लगाने की ज़रूरत है ।मैंने पिछले दिनों भी कहा था कि आप उस पैसे को जीतने भी लोग जमा किये हो दूसरे बैंकों में,दूसरे देशों में ,मंगा लो-ले आओ । वरना वो आपका भी नही रह जायेगा । जहा जमा किये हो उन देशों का ही दिवाला निकलने वाला है,उनकी ही हालात ख़राब होने वाली है । तो वो आपको दे पाएंगे ? नही दे पाएंगे ।

जनहित में लगाओ पैसा

महाराज जी ने बताया कि बहुत से लोग तो इस वजह से नही बताते है कि लोगों को मालूम हो जाएगा कि इतना पैसा इनका है ।बहुत से लोग तो चुपके-चुपके गए इलाज कराने के बहाने विदेश में और वही जमा करके चले आये,इसलिये भी नही बताते की बदनामी हो जाएगी कुर्सी की,जिस कुर्सी पर है । तो बताते नही और आँख बंद हो जाती है और चले जाते है ।तो कौन जाएगा लेने,किसको वो देंगे ।किसी पता है ? ना कोड पता ना एकाउंट नम्बर पता।
इस समय पर तो मौका है खर्च करने का । गरीबों पर खर्च करने का ,भूखों को रोटी खिलाने का ।

समस्या और बढ़ेगी

महाराज जी ने कहा- ये एक दिन का मामला नही है ये तो अभी आगे खिचेगा,ये बीमारी अभी बढ़ती ही जा रही है, ये समस्या पर समस्या उतपन्न होती जाएगी । अभी तो लोगों के घर मे है,जेब मे है खर्च कर रहे है नही अखर रहा । लेकिन धीरे-धीरे बिजनस,व्यापार पर जो इसका असर पड़ रहा हैं कामधंधे पर जो असर पड़ रहा है,खेती-दुकान पर असर पड़ रहा हैं,ये असर बढ़ता जाएगा ।
तब सब ओर परेशान दिखाई पड़ेंगे । आप ये समझों आप पूंजीपति जो आपके पास पैसा है जनहित में लगाने का ये मौका है। आप लगाओ यही आपको असली सेवा होगी, असली धन होगा।