स्वास्थ विभाग की लापरवाही से संक्रमण बढ़ने का खतरा

शैलेंद्र यादव

पड़रौना। कुबेस्थान थाना क्षेत्र के सखवनिया खान टोला में 3 अप्रैल को राजस्थान से पैदल गांव आये युवक ने अपने आप को गांव के प्राइमरी स्कूल में कोरेंटाई किया। 11 दिन बीत जाने के बाद भी ग्राम प्रधान या विभागीय अधिकारियों ने युवक का कोई जांच नहीं किया। जिसको लेकर गांव के लोगों में आक्रोश है।

उल्लेखनीय हैं कि कोरोना वायरस के दृष्टिगत लाकडाउन में सभी तरह के संसाधन बन्द हैं और कुछ लोग पैदल ही अपने सफर तय कर दे रहे हैं। बीते 3 अप्रैल को राजस्थान से कुशीनगर का अमरजीत यादव अपने गांव सखवनिया खान टोला पहुँचा था। और मानवता का मिसाल पेश करते हुए अपने आप को प्राइमरी स्कूल में कोरेंटाई कर दिया बल्कि यह नहीं हैं कि इस ग्राम सभा के प्रधान प्राइमरी स्कूल या अन्य कही बाहर से आये लोगों को कोरेंटाई करने की व्यस्था कर रखी हो। बल्कि अमरजीत स्कूल में रह कर घर से खाना मंगवा कर खाता रहा और सखवनिया के ग्राम प्रधान की नींद 11 दिन बाद भी नही खुली जहा अन्य ग्राम प्रधानों द्वारा कोरोना से बचाव के लिए दवा छिड़काव समेत अन्य सराहनीय कदम उठाए जा रहे हैं। ऐसे में डीएम साहब को ग्राम सभा मे जरूरी व्यस्थाए पर ध्यान देना चाहिए।