You are currently viewing नेताओं के चक्कर में फंसे ग्रामीण 10 को जेल

नेताओं के चक्कर में फंसे ग्रामीण 10 को जेल

रिपोर्ट – बंशीलाल

कौशांबी! कोखराज थाना क्षेत्र रसूलपुर बदले गांव में विवाहिता पत्नी की जगह दूसरी रखैल को घर में रखने पर पति पत्नी में विवाद हो गया पत्नी ने पति के खिलाफ मूरतगंज पुलिस चौकी में शिकायत दिया शिकायत का संज्ञान लेते हुए चौकी इंचार्ज पति को पूछताछ के लिए हिरासत में लेकर चौकी में बंद कर दिया गांव की नेता इनको घटना की जानकारी हुई इस पर दर्जनों लोगों के साथ नेताओं ने चौकी पर हमला बोल दिया पुलिस से हुई मुठभेड़ में कई लोगों को चोट आई पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर नेताइन सहित महिला पुरुषों सहित 10 लोगों को जेल भेज दिया रसूलपुर बदले गांव में शर्मिला पति रंजीत के बीच दूसरी गांव की अवैध पत्नी को घर पर रखने के मामले में विवाद हो गया इस पर पति रंजीत में पत्नी शर्मिला को मारपीट कर घर से निकाल दिया शर्मिला ने पति की प्रताड़ना से क्षुब्ध होकर मूरतगंज चौकी में शिकायत पत्र पति के खिलाफ दिया पत्नी की शिकायत पर चौकी पुलिस रसूलपुर बदले गांव पहुंचकर पूछताछ के लिए पति रंजीत को हिरासत में लेकर चौकी चली आई रंजीत को पुलिस द्वारा हिरासत में लेना गांव की नेताइन रेशमा पत्नी राजेन्दर कुशवाहा व पति नेता राजेदर कुशवाहा को नागवार गुजरा इस पर गांव से दर्जनों लोगों को साथ लेकर चौकी पर हमला बोल दिया! चौकी में तैनात दरोगा सिपाही से मारपीट कर आरोपी रंजीत को छुड़ाने का प्रयास किया गया! इसी दौरान चौकी पुलिस ने कई थानों की फोर्स बुला लिया! मौके पर पहुंची पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर लगभग 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया इसमें रसूलपुर बदले गांव की नेताइन रेशमा उसका पति राजेन्दर कुशवाहा तथा सुषमा पुत्री धर्मेंद्र नैनी पत्नी वीरेंद्र आकाश पुत्र इंद्र लाल सविता पुत्री कल्लू पार्वती पत्नी पताली पंचम पुत्र छोटेलाल देश राज पुत्री बोधेलाल संतराम पुत्र जगजीत निवासी पश्चिम शरीरा गाँव अषाढा मधु देवी पतिनी सूरज सरोज को गिरफ्तार कर पुलिस सभी लोगों को जेल भेज दिया इससे रसूलपुर बदले गांव में हड़कंप मच गया पुलिस का आरोप है! कि रंजीत गांव की एक लड़की नैनी देवी से अवैध संबंध बनाकर उसको पत्नी के रूप में जबरन घर पर रख लिया और पत्नी शर्मिला देवी को मारपीट कर घर से निकाल दिया था! शर्मिला देवी की शिकायत पर पुलिस ने पूछताछ के लिए रंजीत को गांव से हिरासत में लेकर चौकी लाई थी! जिस पर ग्रामीणों ने बिना किसी जानकारी के चौकी में तैनात पुलिस कर्मचारियों पर हमला बोल दिया था! पुलिस को मजबूरन ग्रामीणों के साथ उदारता का व्यवहार करना पड़ा जिससे चौकी क्षेत्र में काफी परेशानी का सामना लोगों को करना पड़ा है!