ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में 125 पशु आश्रय स्थलों में 13225 निराश्रित एवं बेसहारा पशु संरक्षित

हरदोई जनपद में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में 125 पशु आश्रय स्थलों में 13225 निराश्रित एवं बेसहारा पशु संरक्षित किये गये है। इन पशुओं के भरण पोषण हेतु वर्ष भर हरा चारा की उपलब्धता हेतु सभी पशु आश्रय स्थलों में मनरेगा चारा विकास योजना के अन्र्तगत सुपर हाईब्रिड नैपियर घास की रोपाई कराये जाने की योजना मुख्य विकास अधिकारी निधि गुप्ता वत्स द्वारा बनाई गयी है।इसी क्रम में आज दिनांक 17-06-2020 को जनपद के 04 पशु आश्रय स्थलों में- 1-महुराॅकला वि0ख0 सुरसा, 2-जरहा, वि0ख0बेहन्दर, 3-टड़ियांवा, वि0ख0 टड़ियांवा, 4-तेन्दुआ, वि0ख0 मल्लाॅवा में हाईब्रिड नैपियर घास की रोपाई कराई गयी। निधि गुप्ता वत्स, मुख्य विकास अधिकारी, हरदोई द्वारा पशु आश्रय स्थल टड़ियांवा व तेन्दुआ में सुपर हाईब्रिड नैपियर घास की रोपाई का शुभारम्भ किया गया। पशु आश्रय स्थल तेन्दुआ के स्थल में निर्मित तालाब में मछली के बीज डालते हुए मछली पालन का भी शुभारम्भ कराया गया तथा स्वयं सहायता समूह को गोवर से गमले बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा उक्त अवसर पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए आशा व्यक्त की गयी कि उक्त नैपियर घास से गौ आश्रय स्थलों पर संरक्षित पशुओं को वर्ष भर हरा चारा उपलब्ध रहेगा।
उक्त अवसर पर मुख्य पशुचिकित्साधिकारी, डा0 जे एन पान्डेय, डा0 प्रकाशवीर, उपमुख्य पशुचिकित्साधिकारी, सदर हरदोई, डी0सी0मनरेगा, डी0सी0एन0आर0एल0एम0, कृषि उपनिदेशक, एवं अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग हरदोई उपस्थिति रहे।