कोविड-19 के नियमों का सीएससी कौधियारा में खुलेआम उड़ाई गई धज्जियां

कोविड-19 के नियमों का सीएससी कौधियारा में खुलेआम उड़ाई गई धज्जियां

यूपी फाइट टाइम्स

स्वास्थ्य विभाग व परिवार कल्याण विभाग के द्वारा आयोजित किए जाने वाले महिला नसबंदी कैंप में जहां परिवार नियोजन के तहत गुरूवार के दिन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कौधियारा के अंतर्गत आने वाले गांवों से लगभग 48 महिलाएं नसबंदी कराने के लिए पंजीकृत की गई | जिसमें से जांच के उपरांत तीन महिलाएं प्रेग्नेंट पाई गई सिर्फ 45 महिलाओं की नसबंदी का कार्य स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों के द्वारा किया गया | लेकिन सामुदायिक स्वास्थ केंद्र कौंधियारा में महिलाओं की नसबंदी करने के उपरांत एक ही बेड पर बेहोशी की हालत में दो महिलाओं को लिटाया जा रहा था और नसबंदी के महज 30 मिनट बाद ही नसबंदी की गई महिलाओं को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से डिस्चार्ज भी किया जा रहा था | महिलाओं के साथ आए परिजनों के द्वारा सीएचसी कौधियारा के अधीक्षक से एक ही बेड पर दो मरीजों के लेटाये जाने की शिकायत की गई | लेकिन सीएससी अधीक्षक के द्वारा परिजनों को अस्पताल में बेड का अभाव होने की बात कह कर के उनकी बातों को दरकिनार कर दिया गया | जब यह नसबंदी कैंप का कार्य चिकित्सकों के द्वारा दोपहर 3:00 बजे के बाद से शुरू किया गया जो देर शाम तक चलता ही रहा | जबकि महिला ने सोनी कैंप में कोविड-19 के नियमों को सीएससी कौधियारा में खुलेआम धज्जियां उड़ाई गई |इससे यह बात तो स्पष्ट हो जाती है कि स्वास्थ्य विभाग में व्याप्त अनियमितताओं के कारण मरीजों को विभाग से मिलने वाले समुचित सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पाता है |

संवाददाता-रामबाबू पटेल व्यूरो चीफ करछना प्रयागराज उत्तर प्रदेश से UFT NEWS 24