2021 के खराब समय से बचने का एक ही विकल्प-शाकाहारी, नशामुक्त जीवन का ले संकल्प- बाबा उमाकान्त जी महाराज

03.02.2021,भरूच, गुजरात*2021 के खराब समय से बचने का एक ही विकल्प-शाकाहारी, नशामुक्त जीवन का ले संकल्प- बाबा उमाकान्त जी महाराज*मानव को दया, धर्म और भक्ति का पाठ पढ़ाने वाले उज्जैन के पूज्य सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज जी ने साल 2021 को खराब बताते हुए देश-दुनिया के लोगों से आह्वान किया कि ये साल 2021 पिछले 2020 से ज्यादा खराब जाएगा। इससे बचने का केवल एक ही विकल्प है।आप लोग शाकाहारी हो जाये।*कोई भी सदाचारी शाकाहारी नशा मुक्त व्यक्ति मुसीबत के समय जय गुरु देव नाम बोलेगा तो उसकी बचत होगी*गुरु महाराज ने सभी लोगों से प्रार्थना कि आप सब लोग शाकाहारी, नशामुक्त और ईश्वरवादी बनें, जय गुरु देव नाम की ध्वनि बराबर बोलते रहें। जय गुरु देव नाम आपकी रक्षा करेगा। कोई भी सदाचारी शाकाहारी, नशामुक्त व्यक्ति मुसीबत के समय जय गुरु देव नाम बोलेगा तो उसकी बचत होगी।गुरु महाराज ने दिनांक 3 जनवरी 2021 को भरुच, गुजरात में सतसंग सुनाते हुए बताया कि आगे परेशानियां बहुत आएंगी लेकिन उनसे बचने का केवल एक ही रास्ता है – शाकाहारी रहें, नशा मुक्त रहें, ईश्वर भक्त रहें, विश्वास करें और सच्चा ध्यान, भजन, सुमिरन सब लोग करते रहें।*चलती चक्की देखकर दिया कबीरा रोय,दो पाटन के बीच में साबुत बचा न कोय* गुरु महाराज ने बताया कि परिवर्तन की बेला में भारी विनाश होता है, चाहे त्रेता में देख लो, चाहे द्वापर में देख लो। इस कलयुग में आये प्रथम सन्त कबीर साहब ने कहा चलती चक्की देखकर दिया कबीरा रोय, दो पाटन के बीच में साबुत बचा न कोय। कबीर साहब का लड़का था कमाल, जिसने यह सुनकर हंस दिया और बोला:*चलती चक्की देखकर हँसा कमाल ठठाय,कील सहारे जो रहे तो साबुत बच जाय*महाराज जी ने बताया कि उनका लड़का कमाल हंस दिया जैसे हाथ की चक्की चलती है जिसमें एक आधार होता है। लोहे की या लकड़ी की कील होती है उसके सहारे चलती हैं। कमाल ने देखा कि उसके किनारे-किनारे के जितने भी गेहूं है यह सब बच जा रहे हैं। यही है ।*प्रेमियों! नामदान ही है कील, लोगों को दिला दो जिससे उनकी की रक्षा हो जाए* गुरु महाराज जी ने बताया कि नामदान जो अभी आपको हमने बताया यही है कील। इसको पकड़ लो और लोगों को पकड़ा दो जिससे उनकी रक्षा हो जाय।*कलयुग में कलयुग जाएगा और कलयुग में ही सतयुग आएगा*महाराज जी ने कहा कि इस कलयुग में कुछ समय के लिए कलयुग जाने और सतयुग आने के समय भी चक्की के पाटों के बीच आने के समान भारी जन-धन हानि होगी। इससे बचने का उपाय बताते हुए बाबाजी ने कहा कि जय गुरु देव नाम के बारे में लोगों को बता दो, मुसीबत में, तकलीफ में कोई भी शाकाहारी, नशामुक्त, व्यक्ति “जय गुरु देव” नाम बोलेगा तो उसका फायदा होगा, बचत होगी। यह प्रचार आप भी कर सकते हो, करना भी चाहिए।*परोपकार मनुष्य ही कर सकता है, जानवर नहीं कर सकते* गुरु महाराज ने भक्तों से कहा कि परोपकार मनुष्य ही कर सकता है, जानवर नहीं कर सकते हैं। तो आपको करना भी चाहिए क्योंकि मुसीबतें आगे बहुत आ रही, तकलीफें बहुत आ रही हैं। दो पाटन के बीच में साबुत बचा न कोय – दो पाटन कौन है?कलयुग में सतयुग आने का संकेत मिलता है।लिंग पुराण के 40वें अध्याय में लिखा हुआ है, जगन्नाथ पुरिया की किताब में लिखा हुआ है, सूरसागर में लिखा हुआ है और गुरु महाराज जी भी हमारे बराबर कहते रहे – कलयुग में ही सतयुग आएगा कुछ समय के लिए जब एक युग हटेगा तभी तो दूसरा युग आएगा। *संघर्ष की चक्की में जो पड़ेंगे वह पिस जाएंगे*गुरु महाराज ने बताया कि एक कुर्सी पर दो राजा नहीं बैठ सकते। छीना-झपटी तो होगी। दूसरे के आने का समय हो रहा तो मारकाट तो होगी, संघर्ष होगा और संघर्ष की चक्की में जो पड़ेंगे सब पिस जाएंगे ।*आगे लोगों को जरूरत पड़ेगी, जय गुरु देव नाम की – राहत, बचत के लिए* गुरु महाराज ने बताया कि आगे तो जरूरत पड़ेगी जय गुरु देव नाम की, लोगों को राहत के लिए, बचत के लिए। अब यह जरूर है कि समय का प्रभाव आएगा, परेशानियां सबको आएंगी। मान लो एक आदमी कहीं जल रहा है तो दूसरा झुलस ही गया, उसकी खाल ही जल गई तो ठीक हो जाएगा और पहला जल करके खत्म हो गया, अकाल मृत्यु में चला गया, प्रेत योनि, में चला गया भटकने लग गया तो तकलीफें तो आएगी, सबको होगी लेकिन किसी को ज्यादा किसी को कम होंगी। जय गुरु देव नाम यह लोगों की बचत करेगा, रक्षा करेगा।परम् सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज उज्जैन (म.प्र)