जल, अग्नि, पृथ्वी, वायु और आकाश ये सभी देवता नाराज़ खड़े हुए हैं -बाबा उमाकान्त जी महाराज

जयगुरुदेव

टोंक, राजस्थान

जल, अग्नि, पृथ्वी, वायु और आकाश ये सभी देवता नाराज़ खड़े हुए हैं -बाबा उमाकान्त जी महाराज

क़ुदरत के नियम के अनुसार जीवन जीने की सीख देने वाले उज्जैन के पूज्य संत बाबा उमाकान्त जी महाराज ने राजस्थान टोंक जिले के गांधी खेल मैदान में 4 दिसंबर 2015 को सतसंग देते हुए देश और दुनियां के लोगों को आगाह करते हुए कहा कि कुदरत नाराज़ खड़ी है। जल, अग्नि, पृथ्वी, वायु और आकाश ये सभी देवता नाराज़ है। जब एक साथ दो-दो देवता हमला करेंगे तो सोचो क्या होगा?

इतना एक्सीडेंट बढ़ेगा कि डॉक्टर थक जाएंगे और छोड़ करके भाग जाएंगे

मारकाट बढ़ेगा, इतना एक्सीडेंट बढ़ेगा कि डॉक्टर टांका लगाते-लगाते, पट्टी बांधते-बांधते थक जाएंगे और वह दवा खाना छोड़-छोड़ करके भाग जाएंगे। डॉक्टरों की तो हवा ही नहीं मिलेगी कि कहां चले गए, खोजने पर नहीं मिलेंगे। जैसे चोर को टार्च लगाकर रात में ढूंढते हैं ऐसे डॉक्टरों को लोग खोजेंगे, ऐसी आफत आएगी।

कुदरत है नाराज खडी।
आगे तबाही बड़ी-बड़ी।।

आप यह समझो कि प्रकृति कुदरत नाराज खड़ी है। जल पृथ्वी अग्नि वायु आकाश यह देवता सब नाराज हैं। अभी तमिलनाडु के ऊपर पानी ही पानी भर गया। सारी व्यवस्था खराब हो गई। कमर तक पानी शहर में भरा हुआ है। आप समझो तीन-तीन मंजिला ऊपर रह रहे हैं। एक आदमी ने बताया कि मंजिल के फ्लैट पर ऊपर रहते हैं, वह बड़े आदमी होते हैं एक रोटी के लिए तरस रहे हैं। यह हालत है। तो यह तो अभी शुरूआत है। अभी तो बहुत बाढ़ आयेगी। अभी तो बहुत पानी गिरेगा। जल देवता अपना करिश्मा दिखाएंगे।

कुदरत के प्रकोप से पेड़-पौधे घर मकान गिरेंगे तो आदमी कहां रहेगा

एक-एक साथ दो-दो देवता करिश्मा दिखाएंगे। कैसे? जैसे कहीं आग लग गई, कहीं पर जलाने के लिए अग्नि देवता ने आग लगा दिया और पवन देवता ने हवा दे दिया। अब वह जल्दी आग बुझेगी नही। वह तो बढ़ती चली जाएगी एक तरफ से। गांव के गांव जलेंगे, ऐसे फैक्ट्रियां जलेंगी, रोड पर चलते-चलते गाड़ियो में आग लगेंगी और जल जाएंगे।
अब आप समझो एक साथ दो देवता जैसे बरसात भी हो और हवा भी तेज चले। हवा का भी प्रकोप हो जाए तो आप यह समझो की आफत आ गई। पेड़ पौधे घर गिरेंगे तो आदमी कहां रहेगा तो इस तरह से आफत आएंगी।

जयगुरुदेव जयगुरुदेव जयगुरुदेव जय जयगुरुदेव रोज रात को सोने के पहले बराबर कुछ दिन बोलने से फायदा दिखने लगेगा

महाराज जी ने अपने यूट्यूब चैनल जयगुरुदेवयूकेएम से भी ऑनलाइन विस्तृत सन्देश देते हुए बताया कि ये जय गुरु देव नाम उस मालिक का जगाया हुआ नाम है और इसमें उस मालिक की पूरी ताकत भरी हुई है। कोई भी शाकाहारी, सदाचारी, नशा मुक्त व्यक्ति मुसीबत के समय जय गुरु देव नाम बोलेगा तो उसकी मदद होगी। आगे का समय विनाशकारी है इसलिए सबको ये जय गुरु देव नाम रटा दो। रात को जय गुरु देव नाम की ध्वनि, चाहे जोर से या चाहे मन में, बोलते-बोलते सो जाओ। अगर भाव के साथ बोलोगे तो तुरंत फायदा-लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। जय गुरु देव नाम की ध्वनि ऐसे बोलना है- जयगुरुदेव जयगुरुदेव जयगुरुदेव जय जयगुरुदेव।

प्रेमियो!आप अकेले नाम ध्वनि व ध्यान, भजन करके पूरे परिवार को सुखी नहीं रख सकते

महाराज जी ने कहा कि यदि आप सोचो कि एक आदमी कोई हम ध्यान भजन करके और नाम ध्वनि बोलकर के पूरे परिवार को सुखी रख सकते हैं तो यह तो बड़ा मुश्किल होगा। असर तो पड़ेगा, नाम जो बोलोगे तो बाधाओं पर असर पड़ेगा लेकिन उसको कर्म की सजा भोगनी पड़ेगी जो सुमिरन, ध्यान, भजन, नाम ध्वनि नहीं करेगा।
आप यह समझो कर्म की सजा भोगनी पड़ेगी। इसलिए सबको बैठाओ, जितने परिवार में लोग हैं, उनको सबको नाम ध्वनि में बैठाओ, कराओ।