You are currently viewing समूह से जुड़ी महिलाओं ने एडीओ पर लगाये भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप

समूह से जुड़ी महिलाओं ने एडीओ पर लगाये भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप।

रिपोर्ट-सूरज सागर ब्यूरो चीफ बरेली

ऑवला/बरेली। प्रसंग भले ही बेहटा बुजुर्ग गांव का हो लेकिन कमोवेश अब यह स्पष्ट हो गया है कि ब्लॉक मझगंवा में बाल विकास परियोजना पूरी तरह अपने उद्देश्य से भटक गई है। योजना से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों ने इस योजना को अपनी कमाई का जरिया बना लिया है।बुधवार को बेहटा बुजुर्ग गांव में सीडीपीओ द्वारा की जा रही जांच के दौरान यहां पहुंचे तमाम स्वयं सहायता समूह से जुड़े लोगों ने मझगवां के एडीओ आईएसबी पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए।यहां बताना महत्वपूर्ण है कि करीब 2 माह पूर्व ब्लाक क्षेत्र के जोगीठेर गांव की दर्जनों महिलाओं ने ब्लॉक मुख्यालय पहुंचकर एडीओ आईएसबी का घेराव कर खूब प्रदर्शन किया था।उक्त महिलाओं ने एसडीएम आंवला विधायक धर्मपाल सिंह से शिकायत कर आरोप लगाए थे। कि एडीओ आईएसबी एक जाति विशेष के लोगों के स्वयं सहायता समूहों को पोषाहार वितरण करने में वरीयता देते हैं। इधर बुधवार को ब्लॉक क्षेत्र के बरा सिरसा गांव के प्रधान सुरजीत सिंह ने सीडीओ बरेली से भेंट कर गांव में संचालित 4 आंगनबाड़ी केंद्र पर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किए जाने के आरोप लगाए हैं।स्वयं सहायता समूह के लोगों द्वारा लगाए गए आरोपों को मझगंवा के एडीओ आईएसबी सत्यपाल सिंह यादव ने निराधार बताया है। दूसरी तरफ वीडियो पुनीत पाठक ने बुधवार को इस मामले की जांच एडीओ सहकारिता अर्जुन सिंह को सौंपी है।