You are currently viewing प्रेमियों! इस समय अन्न का दुरुपयोग न होने पावे वरना अन्न देवता नाराज़ हो जायेगें-बाबा उमाकान्त जी महाराज

जयगुरुदेव

उज्जैन मध्य प्रदेश

प्रेमियों! इस समय अन्न का दुरुपयोग न होने पावे वरना अन्न देवता नाराज़ हो जायेगें-बाबा उमाकान्त जी महाराज

कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन से क्या-क्या समस्याएं आ सकती है और इनसे कैसे बचा जा सकता है – इसका समाधान बताते हुए उज्जैन के पूज्य संत बाबा उमाकान्त जी महाराज ने 9 अप्रेल 2020 को बताया कि ये जो लॉक डाउन लगा है इससे देश में आगे अन्न और धन की बहुत कमी हो जायेगी। इसलिए प्रेमियों आप लोगों को बता दो की अन्न का ज़रा भी दुरुपयोग न होने पावे। वरना अगर अन्न देवता नाराज़ हो गए तो दाने-दाने को मोहताज़ हो जाओगो अन्न के लिए तो हम कहेंगे प्रेमियों?! लोगों को बता दो इसका दुरुपयोग न करें। आप यह समझो हर चीज़ का हिसाब देना पड़ता है। अगर इसको बेकार किया, अन्न देवता नाराज हो गए तो फिर जल्दी मिलने वाला नहीं है। अभी तो बैठे हुए हो, दरवाजे पर मिल रहा है आपको। लेकिन जब रहेगा नहीं लोगों के पास, उन्हीं भर को रहेगा, तब खुद खाएंगे कि तुमको खिलाएंगे? इसलिए दुरुपयोग नहीं होना चाहिए।

दाता राशन बांट रहे हैं। राशन बेचकर के अगर शराब पियोगे तो एक-एक दाने के हो जाओगे मोहताज

महाराज जी ने कहा कि दाता तो दान दे रहे हैं रहे हैं, राशन बांट रहे हैं। अगर राशन बेचकर के शराब पिए तो एक-एक दाने के मोहताज बनोगे। प्रेमियों! लोगों को बता दो कि आप उतना ही लो जितना आपको जरूरत है। देने वालों को भी चाहिए कि उतना ही लोगों को दें। सरकारें जो बंटवा रही हैं, उनको भी यह चाहिए की जो पात्र हैं, जिसको जरूरत है, उन्हीं को दिया जाए। सूखा अन्न, भोजन का पैकेट आपके पास खाने को नहीं है तो ले लो। लेकिन लेकर के 4 पैकेट, सब्जी कौन सी अच्छी है, पूरी कौन सी, अचार किसका अच्छा है, उस तरह से खाओ, बाकी फेंको तो उसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। इसलिए यह सब बातों को बताना इस समय मैं जरूरी समझता हूं।

जयगुरुदेव
परम् सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज उज्जैन मध्यप्रदेश भारत