सुलभ श्रीवास्तव की हत्या से पत्रकारों में आक्रोश डीएम को भेजा ज्ञापन

सुलभ श्रीवास्तव की हत्या से पत्रकारों में आक्रोश डीएम को भेजा ज्ञापन

कौशांबी !प्रतापगढ़ जिले के एबीपी गंगा न्यूज़ में काम करने वाले जिला संवाददाता को शराब माफियाओं के खिलाफ खबर चलाना महंगा पड़ गया 13 जून की शाम को घर जाते समय माफियाओं ने सुलभ श्रीवास्तव की हत्या कर दिया! इसके बाद जंगल में फेंक कर फरार हो गए घटना की सूचना पुलिस को दी गई पुलिस ने शव को परीक्षण के लिए भेज दिया! सरकार की मदद करने वाले पत्रकारों के साथ यदि इस तरह की घटनाएं होती रही तो वह दिन दूर नहीं जब कोई भी आदमी पत्रकार बनने से दूर भागने लगेगा एबीपी गंगा न्यूज़ के जिला संवाददाता श्रीवास्तव अखबारों के सुर्खियों में रहने के उपरांत काम करने लगे इसी दौरान जिले में शराब माफियाओं का बढ़ता गया एक अभियान चलाकर माफियाओं को बेनकाब कर दिया इससे खुन्नस में आकर शराब माफियाओं ने अपने साजिश की कहानी में सफल हो गए 13 जून की शाम जिस समय सुलभ श्रीवास्तव कार्यालय से घर जा रहे थे! उसी दौरान रात 8:00 बजे के लगभग अज्ञात लोगों ने सिर कुच कर हत्या कर दिया शव जंगल में फेंक कर फरार हो गए सुबह ग्रामीणों ने देखा तो घटना की सूचना पुलिस को दी पुलिस ने मौका मुआयना कर शव को कब्जे में लेकर परीक्षण के लिए भेज दिया जिले के पत्रकारों ने जब धरना प्रदर्शन और आक्रोशित होकर पुलिस को घेरने की कोशिश किया तो पुलिस बैकफुट पर आ गए इसके बाद परिजनों से तहरीर लेकर अज्ञात में मामला दर्ज कर जांच कार्रवाई शुरू कर दिया उधर पत्रकार की मृत्यु पर जिले के सैकड़ों पत्रकारों ने काली पट्टी बांधकर पुलिस का विरोध किया इसी के परिपेक्ष में मंगवार को कौशांबी प्रेस क्लब के द्वारा धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री को संबोधित जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया गया ज्ञापन में मांग की गई कि श्रीवास्तव के हत्यारों को तत्काल बेनकाब किया जाए वहीं पर पीड़ित परिवार को ₹5000000 मुआवजा और परिजन को सरकारी नौकरी दी जाए इस मौके पर प्रेस क्लब अध्यक्ष बृजेश कुमार गौतम, संरक्षक रमेश चंद्र अकेला, सतीश कुमार गोयल, अभिशार भारतीय, अमरेंद्र कुमार, बंशीलाल, जिया रिजवी, शादाब रिजवी, अरविंद तिवारी, इंतजार रिजवी, मनीष तिवारी, अरविंद राना मनोज यादव, अशोक केसरवानी, ,स्वयब, सहित सैकड़ों लोग पत्रकार मौजूद रहे