अब हम केवल सतसंग और नामदान देने पर पूरा फोकस करना चाहते हैं

जयगुरुदेव

दिनांक: 15.6.2021
स्थान: बाबा उमाकान्त जी महाराज आश्रम, उज्जैन, म.प्र.

अब हम केवल सतसंग और नामदान देने पर पूरा फोकस करना चाहते हैं।

विश्वविख्यात परम् पूज्य बाबा जयगुरुदेव जी महाराज के आध्यात्मिक उत्तराधिकारी वक़्त के सन्त सतगुरु परम सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज ने अपने गुरु बाबा जयगुरुदेव जी के 9वें वार्षिक भंडारा पर यूट्यूब चैनल जयगुरुदेवयूकेएम (jaigurudevukm) पर 08 जून 2021 को प्रसारित प्रातः कालीन सतसंग में बताया कि प्रेमियों! जो गुरु महाराज के नाम और काम को आगे बढ़ाने में बदनाम आपको न करें, ऐसे लोगों को आप अपने साथ ले लो। हमारी बातों पर विचार कर लो। हम ही सब कुछ नहीं कर सकते। हमारे पास ज्यादा फोन करने की, पूछने और कुछ पुछवाने की जरूरत नहीं है। अब हम यह चाहते हैं कि आप लोगों पर धीरे-धीरे जिम्मेदारियां देते जाएं, सौंपते जाएं और आपको काम सिखाते जाएं। आगे की व्यवस्था धीरे-धीरे सब हम बनाते जाएं।

लोगों को समझा कर जीते जी मोक्ष प्राप्त करने की इच्छा जगाओ।

और हम जो हमारा काम है, वह करें। हमारा काम क्या है? जो असला काम है – जीवों को जगाना, रास्ता बताना, जीवों को अपने वतन पहुंचाने का काम करना। हम इस काम में लग जाएं। हमारे जीवन का जो इस समय इस शरीर से उपयोग करने का है वह हम अन्य काम में न लगाएं। बाकी आप प्लेटफार्म तैयार करो, अपनी व्यवस्था बनाओ, लोगों को समझाओ और मिशन व नामदान के बारे में बताओ, नामदान की इच्छा लोगों के अंदर जगाओ। लोग आत्मा-परमात्मा के बारे में समझें। परमात्मा से मिलने का, देवी-देवताओं के दर्शन करने का, अनहद वेद-वाणी सुनने की इच्छा अपने अंदर पैदा करें और आप व्यवस्था बना दो। हमारे पास ले आओ, हम भी उनको समझा देंगे, हम भी उन को नामदान दे देंगे। तो आप सब लोग यह काम करो।

जयगुरुदेव नाम ध्वनि बोलने से फायदा मिलेगा, परीक्षा लेकर देख लो।

इससे पूर्व महाराज जी ने अपने सतसंग में बताया कि ये जय गुरु देव नाम उस मालिक का जगाया हुआ नाम है और इसमें उस मालिक की पूरी ताकत भरी हुई है। कोई भी शाकाहारी, सदाचारी, नशा मुक्त व्यक्ति मुसीबत के समय जय गुरु देव नाम बोलेगा तो उसकी मदद होगी। आगे का समय विनाशकारी है इसलिए सबको ये जय गुरु देव नाम रटा दो। रात को जय गुरु देव नाम की ध्वनि, चाहे जोर से या चाहे मन में, बोलते-बोलते सो जाओ। अगर भाव के साथ बोलोगे तो तुरंत फायदा-लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। जय गुरु देव नाम की ध्वनि ऐसे बोलना है- जयगुरुदेव जयगुरुदेव जयगुरुदेव जय जयगुरुदेव।

प्रेमियो! आप अकेले नाम ध्वनि व ध्यान, भजन करके पूरे परिवार को सुखी नहीं रख सकते

महाराज जी ने कहा कि यदि आप सोचो कि एक आदमी कोई हम ध्यान भजन करके और नाम ध्वनि बोलकर के पूरे परिवार को सुखी रख सकते हैं तो यह तो बड़ा मुश्किल होगा। असर तो पड़ेगा, नाम जो बोलोगे तो बाधाओं पर असर पड़ेगा लेकिन उसको कर्म की सजा भोगनी पड़ेगी जो सुमिरन, ध्यान, भजन, नाम ध्वनि नहीं करेगा।
आप यह समझो कर्म की सजा भोगनी पड़ेगी। इसलिए सबको बैठाओ, जितने परिवार में लोग हैं, उनको सबको नाम ध्वनि में बैठाओ, कराओ।