You are currently viewing प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में फिर विश्वगुरु बनने की राह पर आगे बढ़ रहा है भारत : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में फिर विश्वगुरु बनने की राह पर आगे बढ़ रहा है भारत : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

जयपुर राजस्थान

(ललित दवे)

वेबीनार में 7 देशों के राजदूत व राजनयिकों से केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने योग व भारतीय संस्कृति पर की चर्चा, कहा- योग से बढ़ती है सकारात्मक ऊर्जा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत फिर विश्वगुरु बनने की राह पर है यह कहना है भारत सरकार के केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी का जो “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” के विषय पर आईसीएचआर की ओर से आयोजित वेबीनार को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे । वेबीनार में 7 देशों के राजदूत व राजनयिकों ने भी केंद्रीय मंत्री के साथ योग व भारतीय संस्कृति पर चर्चा की । केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत सरकार ने जब संयुक्त राष्ट्र संघ में प्रस्ताव रखा गया उसके बाद पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाने लगा है । चौधरी ने कहा योग मनुष्य को स्वस्थ रखता है और जो मनुष्य योग करता है वह अधिक ऊर्जा के साथ सकारात्मक कार्य करता है जिसका सबसे बड़ा उदाहरण विश्व में हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी है जो रोजाना योग करते हैं व उनके कुशल नेतृत्व में भारत लगातार विकास पथ पर अग्रसर है । केंद्रीय मंत्री चौधरी ने कहा पहले गांवों में शारीरिक श्रम पर ज्यादा ध्यान दिया जाता था , दवाइयों से लोग दूर रहते थे और प्रत्येक व्यक्ति स्वस्थ रहने के लिए योग व अधिक शारीरिक श्रम करता था इसलिए पुनः अपनी संस्कृति के मूल तत्वों को पहचानने की आवश्यकता है जिससे कि सम्पूर्ण राष्ट्र का प्रत्येक व्यक्ति स्वस्थ व सुखी जीवन का आनंद ले सके ।
वेबीनार में विदेशी राजदूतों ने भी भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को योग को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए व अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस शुरू कराने के लिए उनकी प्रशंसा करते हुए आभार व्यक्त किया । कार्यक्रम में अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक अध्यक्ष जैन धर्मगुरु आचार्य डॉ. लोकेश मुनि , लद्दाख के एमआईएमसी के संस्थापक अध्यक्ष भिक्खु संघसेना , भारत में डेनमार्क के राजदूत फ्रेडी स्वेन , त्रिनिदाद और टोबैगो के राजदूत डॉ रोजर गोपाल , मॉरीशस की राजदूत शांता बाई हनूमंजी , बुर्किना फासो के राजनयिक हर्वे डी कौलीबैली , कोमोरोस के मानद महावाणिज्य दूत के एल गंजू , कोस्टा रिका देश की पूर्व राजदूत मारीएला क्रूज अल्वारेज, आईसीएचआर के कोषाध्यक्ष गौरव गुप्ता , निशांत शर्मा , न्यूज इंडिया के दिल्ली ब्यूरो चीफ प्रशांत शर्मा , नील शर्मा व एएटीएफ के चांसलर संदीप मारवाह आदि ने भी योग व भारतीय संस्कृति पर महत्वपूर्ण विचार रखे ।