You are currently viewing अपनी खामियों को केंद्र पर थोपकर जिम्मेदारी से बचना चाहती है कांग्रेस पार्टी और गहलोत सरकार : कैलाश चौधरी

अपनी खामियों को केंद्र पर थोपकर जिम्मेदारी से बचना चाहती है कांग्रेस पार्टी और गहलोत सरकार : कैलाश चौधरी

जाट चेरिटेबल ट्रस्ट नेहरू नगर में सम्पन्न हुई भाजपा जिला कार्यसमिति बाड़मेर की बैठक और उसके बाद आयोजित प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि आपसी फूट के कारण कभी भी गिर सकती है प्रदेश की कांग्रेस सरकार

बाड़मेर (राजस्थान)

भाजपा कार्यसमिति बाड़मेर की बैठक शनिवार को जाट चेरिटेबल ट्रस्ट नेहरू नगर में सम्पन्न हुई। इसमें महामारी के समय पार्टी की जिला इकाई द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी दी गई तथा आगे की रणनीति पर चर्चा हुई।
बैठक में केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री व स्थानीय बाड़मेर जैसलमेर सांसद कैलाश चौधरी ने कहा कि महामारी के समय जिले में भाजपा के कार्यकर्ताओं ने जिस तरह से अपनी जान की परवाह किये बिना काम किया, उसकी हर जगह और आमजन की ओर से बहुत सराहना मिली है। भाजपा जिलाध्यक्ष आदूराम मेघवाल ने बताया कि पार्टी के कार्यकर्ताओं ने संक्रमण की पहली और दूसरी लहर में जरूरतमंदों की सेवा की। बाड़मेर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने ‘सेवा ही संगठन’ काम को केवल नारों में ही नहीं जमीन पर भी जीवंत किया। कार्यक्रम की रूपरेखा बालाराम मूंढ़ ने रखी और मंच संचालन स्वरूप सिंह खारा ने किया। कार्यसमिति की बैठक में कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी, प्रदेश उपाध्यक्ष माधोराम चौधरी, जिलाध्यक्ष आदूराम मेघवाल और भाजपा जिला मीडिया प्रभारी ललित बोथरा सहित जिले के वरिष्ठ भाजपा पदाधिकारी उपस्थित रहे।

बैठक को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष माधोराम चौधरी ने कहा कि बाड़मेर जिले सहित प्रदेश भर में संक्रमण की दर अब थोड़ी सी कम हो रही है यह अच्छी बात है, लेकिन ये राज्य सरकार की कोशिशों से हुआ ऐसा नहीं है। केंद्र सरकार और भाजपा कार्यकर्ताओं सहित सबकी सक्रियता से ही यह उम्मीद जगी है। वहीं कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 135 करोड़ जनसंख्या वाले देश के सभी नागरिकों के निशुल्क टीकाकरण का बहुत बड़ा और ऐतिहासिक निर्णय लिया है, जिसका देश भर में अमलीकरण भी शुरू हो चुका है और रिकॉर्ड टीके लग रहे हैं। कैलाश चौधरी ने कहा कि गरीबों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कमिटमेंट को देखते हुए केंद्र सरकार ने 80 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त में राशन सामग्री मुहैया कराने का फैसला लिया। इसी तरह से पिछले साल भी पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत राशन मुहैया करवाया गया था। प्रधानमंत्री मोदी ने जोर देकर कहा है कि इस कठिन समय में गरीबों को पोषण मिलना जरूरी है।

अपनी खामियों को केंद्र पर थोपकर जिम्मेदारी से बच रही है गहलोत सरकार : कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया कि गहलोत सरकार ने अपने स्तर पर कोरोना महामारी से बचाव के कोई उपाय नहीं किए। जिला अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट भी समय पर स्थापित नहीं किए। इसी तरह टीकों का दुरूपयोग किया गया। अब राज्य सरकार और कांग्रेस पार्टी अपनी खामियों को दूसरों के ऊपर थोपना चाहती है। कैलाश चौधरी ने कहा कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार ‘अस्थिर’ है और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के मतभेदों के कारण यह सरकार किसी भी वक्त गिर सकती है। कृषि राज्यमंत्री ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार के नये कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन से कुछ ऐसे लोग जुड़ गए हैं जिनका अन्नदाताओं से कोई संबंध नहीं है और इस कारण आंदोलन के लोग ‘भ्रमित’ हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार से संवाद के माध्यम से किसानों की समस्याओं का निश्चित रूप से समाधान होगा।