You are currently viewing कोरोना से जंग और किसानों का हित मोदी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

कोरोना से जंग और किसानों का हित मोदी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

संसदीय क्षेत्र के प्रवास के दौरान केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी भाजपा कार्यकर्ताओं के घर शोकसभाओं में लिया हिस्सा, चौहटन में सीमाजन कल्याण समिति के सीमाजन छात्रावास में स्व. तन सिंह चौहान की स्मृति में निर्मित भोजनशाला के लोकार्पण समारोह एवं भामाशाह सम्मान समारोह में की शिरकत

बाड़मेर

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी शुक्रवार को संसदीय क्षेत्र बाड़मेर के दौरे पर है। केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने सबसे पहले संसदीय क्षेत्र के रोडवा खुर्द व मूढ़ों की ढाणी पतासर में कार्यकर्ताओं और आमजन से मुलाकात की एवं संवाद किया। इसके बाद पुराना गांव बायतू में भगवानाराम भरिन्डवाल के माता-पिता और बायतू पनजी में जिला परिषद सदस्य प्रतिनिधि हुकमाराम सारण के भाई के स्वर्गवास होने पर दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद निम्बलकोट में जिला परिषद सदस्य नरपतराज मूंढ़ के पिताजी भैराराम मूंढ़ के स्वर्गवास होने पर दिवंगत होने पर श्रद्धांजलि अर्पित की और शोक संतप्त परिजनों को सांत्वना दी। इस अवसर पर दिवंगत आत्मा की पुण्य स्मृति में पौधरोपण भी किया।

इसके बाद केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने चौहटन में सीमाजन कल्याण समिति के सीमाजन छात्रावास में स्व. तन सिंह चौहान की स्मृति में उनके पुत्र जोगेंद्र सिंह एवं राजेंद्र सिंह चौहान द्वारा निर्मित भोजनशाला के लोकार्पण समारोह एवं भामाशाह सम्मान समारोह में भाग लिया। कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर की गई। इसके बाद केंद्रीय मंत्री चौधरी ने श्री डूंगरपुरी मठ चौहटन में पूजा अर्चना कर महंत श्री श्री 1008 जगदीशपुरी से आशीर्वाद प्राप्त किया एवं ब्रह्मलीन सन्त जालमपुरी महाराज की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर उपस्थित गणमान्यजनों के साथ मठ परिसर में पौधरोपण भी किया।

कोरोना रोकथाम और किसानों का हित केंद्र सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता : इस दौरान कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार भी नीति और नीयत से पूरी तरह किसानों के हित में काम करने के लिये प्रतिबद्ध है। नए कृषि सुधारों से किसानों को नए बाजार मिलेंगे, नए विकल्प मिलेंगे, प्रौद्योगिकी का ज्यादा लाभ मिलेगा। साथ ही कृषि क्षेत्र में ज्यादा निवेश होगा और इसका ज्यादा फायदा किसानों को होगा। कैलाश चौधरी ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद कैबिनेट की पहली बैठक में ही कोरोना से जंग के लिए 23,123 करोड़ रुपये के इमरजेंसी पैकेज को मंजूरी दी गई है। इसके अलावा इस बैठक में किसानों को मंडी के जरिए एक लाख करोड़ रुपये दिए जाने के फैसले पर भी मुहर लगी है। सरकार ने किसानों से आंदोलन खत्म करने की अपील करते हुए कहा है कि कृषि क्षेत्र में सुधार और किसानों की आय में बढ़ोत्तरी उसकी प्राथमिकता सूची में है।