You are currently viewing भारी तबाही वाले बुरे समय के बाद अच्छा समय आएगा-बाबा उमाकान्त जी महाराज

जय गुरु देव

15.07.2021
बाबा उमाकान्त जी महाराज आश्रम, उज्जैन, म.प्र.

भारी तबाही वाले बुरे समय के बाद अच्छा समय आएगा-बाबा उमाकान्त जी महाराज

विश्व विख्यात परम सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज ने 22 नवंबर 2017 को अपने दुःख निवारण काफिले के अंतिम पड़ाव ग्वालियर में, यूट्यूब चैनल जयगुरुदेवयूकेएम (Jaigurudev UKM) पर प्रसारित सतसंग में भक्तों का संदेश दिया कि आपने अभी क्या बीमारी देखी है? ऐसी नई-नई बीमारियां आएंगी कि 1 रुपये की दवा हजार रुपए में भी नहीं मिलेगी। लोगों के कर्म इतने खराब हो गए हैं कि कर्मों की सजा में यह सब बीमारियां आएंगी।

आपके कर्मों के इंसाफ के समय भारी जन-धन की हानि होगी

बहुत लोग मरेंगे। जो बनाना जानता है वह बिगाड़ना भी जानता है। जब वह सजा देने लग जाएगा तो उसके सजा के आगे किसी की जोर-जबरदस्ती नहीं चलती है। यहां कि सजा तो आप माफ करा सकते हो, बढ़िया वकील रख के, कोर्ट में दोस्ती करके, सेटिंग करके, सिफ़ारिश लगा करके लेकिन जब वह इंसाफ करने लग जाएगा, कर्मों की सजा देने लग जाएगा तो उससे आपको माफी नहीं मिलेगी।

आने वाली मुसीबत से बचने का उपाय

इसलिए लोगों को बताने-समझाने की जरूरत है। शाकाहारी लोगों को बनाने की आवश्यकता है। बराबर आप का प्रचार होना चाहिए, योजना बनाकर के प्रचार में आप सब लोग लगना और लोगों को भी लगाना।

अच्छा समय आएगा, सतयुग इसी धरा पर आएगा

देखो देश में गौ हत्या बंद हो जाएगी। गौ हत्या ही नहीं, किसी भी पशु-पक्षी की हत्या नहीं होगी। कश्मीर से कन्याकुमारी तक कोई भी शराब, मांस, अंडा, मछली की दुकान ही नहीं होगी। आधी रात को देश के किसी भी सड़क पर कोई भी औरत गहने पहनकर घूमेगी तो देख करके किसी की भी नीयत खराब नहीं होगी।

भौतिक संम्पन्ता के साथ लोगों की नीयत-भावना भी सुधर जाएगी

विचार बदल जाएंगे, भावना बदल जाएगी। भावनाओं की ही तो बात होती है। जवान भाई जवान बहन एक ही चारपाई पर सोए रहते हैं, उनकी भावना अलग रहती है और पति-पत्नी की भावना अलग रहती है। दूसरे के धन को लोग जहर से भी जहर समझने लगेंगे। दूसरे की मां-बहन को अपनी मां-बहन की तरह समझने लगेगे। नीयत सही हो जाएगी। बरकत होने लगेगी। समय पर जाड़ा, गर्मी, बरसात होने लगेगी। धरती धन-धान्य से पूर्ण हो जाएगी। यह सारी व्यवस्थाएं सही हो जाएंगी।