You are currently viewing बाबा फुलेश्वर नाथ मंदिर नहीं होगा कोई धार्मिक कार्यक्रम

बाबा फुलेश्वर नाथ मंदिर नहीं होगा कोई धार्मिक कार्यक्रम

खगड़िया ब्यूरो-नैयर आलम

खगड़िया/25 जुलाई से सावन माह का आगाज हो रहा है। लेकिन इस बार भी कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने बेलदौर के बाबा फुलेश्वर नाथ मंदिर के शिवालयों में किसी भी प्रकार के सामूहिक कार्यक्रम और ना ही मंदिरों में भीड़ जूटेगी ना ही जलाभिषेक करेंगे। मालूम हो कि इस बार सावन के सोमवार पर शिव भक्त घरों पर ही भगवान भोलेनाथ की आराधना करेंगे, मंदिरों पर मेले नहीं लगेंगे और ना ही कोई धार्मिक आयोजन होंगे। वही दूर से ही भगवान की दर्शन किया जा सकेगा। इस वर्ष मंदिरों पर रौनक नहीं है, बाबा फुलेश्वर नाथ पर आमतौर पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ जुटने लगती थी। इस बार ऐसा कुछ नहीं दिखेगा, मंदिरों में पुजारी तो पूजा पाठ करेंगे। लेकिन डाक बम बाबा भोलेनाथ के शिवालयों पर जलाभिषेक नहीं करेंगे। मालूम हो कि प्रथम सोमवारी को लेकर कांवरिया डाक सेवा समिति बेलदौर की ओर से हर वर्ष बाबा फुलेश्वर नाथ मंदिर के प्रांगण से दक्षिण वाहिनी गंगा अगवानी घाट पहुंचकर, गंगा जल भरकर करीब 70 किलोमीटर का सफर करके बाबा फुलेश्वर नाथ मंदिर पहुंचकर जलाभिषेक करते थे। लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्थानीय सीओ सुबोध कुमार अपने लो लश्कर के साथ मंदिर पहुंचकर फुलेश्वर नाथ मंदिर के पुजारी समेत ग्रामीण को सूचना दिया कि किसी भी तरह का धार्मिक कार्यक्रम नहीं किया जाएगा, ना ही शिवालयों पर जलाभिषेक होगा। इसलिए अभी कोरोना का तीसरा लहर प्रवेश कर रहा है। जिस कारण वश देवघर के नगरी में भोलेनाथ के मुख्य द्वार बंद कर दिया है।