You are currently viewing सीएम नीतिश सरकार के संविदा कर्मी संबंधित न्यू गाइड लाईन तुगलकी फरमान व छलावा – किरण देव यादव

सीएम नीतिश सरकार के संविदा कर्मी संबंधित न्यू गाइड लाईन तुगलकी फरमान व छलावा – किरण देव यादव

ब्यूरो खगड़िया-मोहम्मद नैयर आलम

खगड़िया/दिनाँक 27 जुलाई 2021 को बिहार प्रदेश संविदा कर्मी महासंघ के संरक्षक सह बिहार प्रदेश आशा ममता फेसिलेटर संघ के प्रदेश अध्यक्ष किरण देव यादव ने बिहार सरकार के नीतीश सरकार द्वारा संविदा कर्मी संबंधित नई गाइडलाइन को तुगलकी फरमान एवं संविदा कर्मियों के साथ हुई समझौता के साथ धोखा बताया !
श्री यादव ने कहा कि संविदा कर्मियों से संबंधित चौधरी कमेटी के अनुशंसा को पूर्णतः लागू नहीं की गई है ! उन्होंने कहा कि सरकार के नई गाइडलाइन में संविदा कर्मी को सरकारी सेवक घोषित नहीं करने , स्थाई नौकरी नहीं करने , एक महीना पूर्व नोटिस देकर नौकरी से निकालने , सरकारी सेवक के तरह किसी प्रकार का सुविधा नहीं देने आदि कर्मचारी विरोधी निर्णय है ! इसका पुरजोर विरोध करते हैं ! तथा सरकार से मांग करते हैं कि न्यू गाइडलाइन एक धोखा है सरकार की तुगलकी फरमान है इसे वापस लें , अन्यथा पूरे बिहार के संविदा कर्मी आशा , ममता , फेसीलेटर, आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, रसोईया सहित सरकारी सभी विभाग के संविदा कर्मी कर्मचारी आंदोलन तेज करेंगे ! इस संबंध में जल्द ही एक बैठक कर आंदोलन का रणनीति बनाई जाएगी !
महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष किरण देव यादव ने कहा कि आशा कार्यकर्ताओं को 2015 से ही ₹1000 प्रति माह मानदेय देने की सरकारी घोषणा के बाद आशा हड़ताल समाप्त हुई थी लेकिन आज तक उक्त घोषणा धरातल पर नहीं उतर पाई है और ना ही आशा कार्यकर्ता को आज तक ₹1000 मानदेय दी जा रही है ! वही आशा कार्यकर्ता को लॉकडाउन कोरोना अवधि के ₹350 प्रतिदिन के हिसाब से राशि भुगतान नहीं की गई है!
जल्द ही आंदोलन की रूपरेखा तय की जायेगी!