You are currently viewing कृषि कानूनों को लेकर राजनीतिक रोटी सेंकना चाहते हैं कांग्रेस और विपक्ष के नेता : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

कृषि कानूनों को लेकर राजनीतिक रोटी सेंकना चाहते हैं कांग्रेस और विपक्ष के नेता : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने मेडिकल शिक्षा में ओबीसी और कमजोर आय वर्गों के लिए दिए गए आरक्षण के ऐतिहासिक फैसले को बताया मोदी सरकार का सामाजिक न्याय

दिल्ली/जयपुर

देश में मेडिकल एजुकेशन को लेकर गुरुवार को केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने इस ऐतिहासिक फैसले का स्वागत करते हुए बताया कि देश में मेडिकल एजुकेशन के क्षेत्र में सरकार द्वारा ऐतिहासिक निर्णय लिया गया है। ऑल इंडिया कोटे के तहत अंडरग्रेजुएट/पोस्ट ग्रेजुएट, मेडिकल और डेंटल शिक्षा में ओबीसी वर्ग के छात्रों को 27% व कमजोर आय वर्ग (ईडब्ल्यूएस) के छात्रों को 10% आरक्षण दिया जाएगा। कैलाश चौधरी ने कहा कि इस निर्णय से मेडिकल और डेंटल शिक्षा में प्रवेश के लिए ओबीसी तथा आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) से आने वाले 5,550 छात्र लाभान्वित होंगे।देश में पिछड़े और कमजोर आय वर्ग के उत्थान के लिए उन्हें आरक्षण देने को सरकार प्रतिबद्ध है।

कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने वर्तमान शैक्षणिक वर्ष से स्नातक और स्नातकोत्तर मेडिकल/डेंटल पाठ्यक्रमों के लिए अखिल भारतीय कोटा योजना में ओबीसी को 27 प्रतिशत और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को 10 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने का एक ऐतिहासिक फैसला किया है। इससे हरसाल हजारों की संख्या में युवाओं को बेहतर अवसर हासिल करने और हमारे देश में सामाजिक न्याय का एक नया उदाहरण पेश करने में सहायता मिलेगी। कैलाश चौधरी ने कहा कि वर्तमान शैक्षणिक वर्ष से स्नातक और स्नात्तकोत्तर मेडिकल और डेंटल पाठ्यक्रमों के लिए अखिल भारतीय कोटा योजना में अन्य पिछड़ा वर्ग को और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को आरक्षण प्रदान करने के सरकार के ऐतिहासिक फैसला सामाजिक न्याय के नए प्रतिमान स्थापित करेगा।

आंदोलनकारी किसानों को उकसा रहे हैं कांग्रेस और विपक्षी दलों के नेता : केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने भाजपा एससी मोर्चा राजस्थान के प्रदेशाध्यक्ष शकैलाश मेघवाल पर श्रीगंगानगर जिले में हुए हमले को निंदनीय और दुर्भाग्यपूर्ण बताया। कैलाश चौधरी ने कहा कि किसान आंदोलन की आड़ में भाजपा और दलित नेताओं पर हो रहे इस तरह के हमले कतई बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे, राज्य सरकार ऐसी घटनाओं की रोकथाम सुनिश्चित करें एवं दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। कृषि राज्यमंत्री चौधरी ने कांग्रेस सहित पूरे विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस पर आंदोलनकारी किसानों को केंद्र सरकार के खिलााफ भड़काने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस चाहे कुछ भी कर ले। देश का किसान अपना हित जानते हैं। इसके बावजूद कुछ लोग कृषि कानूनों को लेकर सियासी रोटी सेंकना चाहते हैं।