You are currently viewing प्रधान बनते ही अवैध कब्जे आरंभ महिला की शिकायत पर गांव पहुंची पैनी नजर अध्यक्ष

प्रधान बनते ही अवैध कब्जे आरंभ महिला की शिकायत पर गांव पहुंची पैनी नजर अध्यक्ष।

रिपोर्ट-सूरज सागर।

बरेली।जिला बरेली तहसील नवाबगंज के ग्राम रिछोला आसपुर में एक महिला की शिकायत पर जिसमें ग्राम प्रधान द्वारा उसकी निजी जमीन पर रास्ता निकालने का विवाद होने पर पहुंची पैनी नजर सामाजिक की अध्यक्ष एडवोकेट सुनीता गंगवार ग्राम आसपुर रिछोला पहुंची पहुंचते ही ग्राम में घनघोर बारिश होनी आरंभ हो गई बारिश रुकने का इंतजार करते हुए जब काफी देर हो गई तो संस्था अध्यक्ष बारिश में ही छाता लगा कर विवादित स्थल पर पहुंची विवाद ग्राम प्रधान द्वारा महिला की निजी खेत के रकबे में से रास्ता निकालने व उसके निजी तालाब की चौड़ाई को कम किए जाने का विवाद था पैनी नजर संस्था अध्यक्ष ने दोनों पक्षों की बात वहीं मौके पर बुलाकर पूछी ग्राम प्रधान ने कहा कि इनका रकबा खेत का पूरा है जबकि पीड़ित महिला का कहना है कि उसका रकबा ग्राम समाज की जमीन से पूरा किया जा रहा था जो कि अवैध है कभी भी वह ग्राम समाज में शामिल किया जा सकता है संस्था अध्यक्ष ने कहा कि बेहतर है दोनों पक्ष बैठकर दोबारा से खेत की पैमाइश कर इस मसले को सुलझाया जा सकता है दोनों पक्षों ने संस्था अध्यक्ष की बात पर सहमति जताई संस्था अध्यक्ष ने कहा संबंधित लेखपाल को बुलाया जाए और संस्था अध्यक्ष भी वहां पर पहुंचकर उस विवाद का निपटारा करवाएंगी जानकारी के तौर पर दोनों पक्षों में मुकदमे बाजी भी हो रही है संस्था अध्यक्ष का कहना है कि मुकदमे के बाद भी अंत में जो सत्य है उसी बात को मानना पड़ेगा और लंबा समय खर्च करने से अच्छा है कि आज ही वक्त से पहले अपनी गलती को स्वीकार करते हुए विवाद को खत्म कर लेना चाहिए इस बात पर पैनी नजर अध्यक्ष की बात पर दोनों पक्षों ने सहमति दी कि संस्था की उपस्थिति में एक समझौता लिखित में नपत के बाद कर दिया जाएगा। अक्सर ग्रामों में प्रधानों द्वारा इस तरह के दबंगई व अवैध ढंग से लोगों की भूमि पर कब्जे करने के मामले होते हैं जिसको लेकर ग्रामों में बड़े-बड़े विवाद हो जाते हैं जिसमें मारपीट व मर्डर तक की घटनाएं घट जाती हैं जिसको लेकर प्रशासन को नजर रखनी चाहिए व प्रधानों के ऊपर इस तरह घटनाएं ना हो अंकुश लगाना चाहिए।