You are currently viewing भारत का रहने वाला हूं, भारत की बात सुनाता हूं” गीत का सृजन कर, इंदीवर अमर हो गये:डाॅ सुनील तिवारी

प्रेस विज्ञप्ति

“भारत का रहने वाला हूं, भारत की बात सुनाता हूं” गीत का सृजन कर, इंदीवर अमर हो गये:डाॅ सुनील तिवारी

झांसी।(15अगस्त) क्षत्रिय कलचुरी कलवार महासंघ एवं युवा शक्ति संगठन के संयुक्त तत्वावधान में सुप्रसिद्ध फिल्मी गीतकार साहित्यकार स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय श्यामलाल आजाद इंदीवर जी की शताब्दी जयंती समारोह एवं वरिष्ठ समाजसेवी स्वर्गीय धनीराम राय जी की पुण्यतिथि पूर्व सीनेटर सेंट्रल यूनिवर्सिटी आफ कर्नाटका डॉक्टर सुनील तिवारी जी की मुख्य आतिथ्य एवं क्षत्रिय कल्चुरी कलवार महासंघ के अध्यक्ष अजीत राय की अध्यक्षता में हजरयाना स्थित राय भवन में मनाई गई ।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए, डाॅ सुनील तिवारी ने कहा कि श्यामलाल आजाद “इंदीवर” जी का जन्म 15 अगस्त 1921 को झांसी जिले के बरूआसागर में हुआ था। युवावस्था से ही क्रांतिकारी तेवरों के कारण,वह ब्रिटिश हुकुरानों टकराते रहे। उनके यही तेवर,उनकी फिल्मी गीतकार की यात्रा में दृष्टिगोचर होते है।
कार्यक्रम में “मेरे देश की धरती सोना उगले, उगले हीरे मोती” “है प्रीत जहां की रीत सदा, मैं गीत वहां के गाता हूं ,भारत का रहने वाला हूं, भारत की बात सुनाता हूं” “कसमे वादे ,प्यार वफ़ा,सब वादे हैं,वादों का क्या?” “फूल तुम्हें भेजा है खत में, फूल नहीं मेरा दिल है” “देते हैं भगवान को धोखा, इंसान को क्या छोड़ेंगे” आदि गीत गुनगुनाने के साथ समारोह में उपस्थित अतिथियों ने उनकी स्मृतियों को याद किया। इस अवसर पर इंदीवर जी एवं धनीराम राय जी के चित्र पर फूल अर्पित कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। समारोह में प्रमुख रूप से संजीव शर्मा, रवीश त्रिपाठी, मुकेश सिंघल एडवोकेट, चंद्र प्रकाश उपाध्याय, आनंद राय, महेश उपाध्याय ‘राही’ ,रामेश्वर राय ,श्रीमती शिवकुमारी राय, श्रीमती लक्ष्मी राय, श्रीमती तान्या राय, अब्दुल रशीद, नेहाल राजपूत, प्रवीण भार्गव आदि ने भी,प्रमुख रूप से श्रद्धा सुमन अर्पित किये। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पत्रकार अरुण द्विवेदी एवं आभार अंकित राय ने व्यक्त किया।