You are currently viewing बिन्दकी : बड़े पैमाने में नगर में हो रहा अवैध मादक पदार्थों का सेवन

बिन्दकी : बड़े पैमाने में नगर में हो रहा अवैध मादक पदार्थों का सेवन

पुलिस प्रशासन का रहता पूरा सह – सूत्र।

बिंदकी क्षेत्र के मुरादपुर गांव जैसे कई गांवों में हो रही अवैध देशी अंग्रेजी शराब की बिक्री

यूपी फाइट टाइम्स

फतेहपुर /बिन्दकी : जनपद फतेहपुर में अवैध शराब और अवैध मादक पदार्थों को लेकर जो अभियान चलाया जा रहा था।उस मजबूत अभियान में क्षेत्रीय पुलिस प्रशासन की भूमिका विवादों के घेरे में है। कुछ लोगों को सह देकर अवैध रूप से गांजा बेचवाया जा रहा है । जिला प्रशासन और पुलिस अधीक्षक द्वारा लगातार अवैध पदार्थों पर अंकुश लगाने का प्रयास हो रहा है परन्तु क्षेत्रीय पुलिस प्रशासन द्वारा शासन और उच्चाधिकारियों की मंशा के विपरीत मनमानी रवैय्या अपनाते हुए लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है और खुलेआम गांजा बेचा जा रहा। इन दिनों जनपद फतेहपुर की तहसील बिन्दकी नगर व उसके अगल बगल क्षेत्र में भी भारी मात्रा में अवैध रूप से गांजा बेचा जा रहा है । भांग ठेकों से भांग की आड़ में गांजे की बिक्री जोरों पर हैं। समय समय पर ऐसे अवैध मादक पदार्थों की वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होती रही है लेकिन पुलिसिया कार्यवाही के नाम पर अब तक सिर्फ खाना पूर्ति ही की गई है । गांजा की खपत बढ़ गई है। इस खेल में गांजा माफिया से लेकर तहसील स्तर के बड़े बड़े नुमाइंदे शामिल हैं। वहीं इस धंधे से लगे माफिया व दुकानदार रातों रात माला माल हो रहे हैं। मादक पदार्थों को बेचने वालों पर कोई कठोर कार्यवाही ना तो आज तक पुलिस ने की है और न ही कभी ऐसे मादक पदार्थ बेचने वालों का भंडाफोड़ किया है। जिससे प्रतीत होता है कि ऐसे अवैध कामों को करने वाले लोगों को खुद पुलिस ही संरक्षण दे रही है,जो खुले आम गांजे की बिक्री कर रहे हैं। सूत्रों की मानें तो गांजे की अवैध बिक्री करने वाले लोगों से स्थानीय थाने के कुछ कारखास सिपाही ऐसे अवैध काम करने वालों से प्रतिदिन शाम के समय मिलकर अपनी जेबों को गर्म करते हैं। यही वजह है कि ऐसे मादक पदार्थों पर पूर्ण अंकुश लग पाना सम्भव नहीं या फिर यूं कहें कि ऐसे मादक पदार्थों का बिन्दकी नगर में भांग ठेकों की आड़ में बिकने के पीछे सबसे बड़ा हाथ थाने के कुछ कारखास लोगों का है ।
इस गांजे के नशे की गिरफ्त में मजदूरों से लेकर अभिजात्य युवा पीढ़ी तेजी से आ रही है और शारीरिक,मानसिक और आर्थिक रूप से बर्बाद हो रहे हैं। देखने में यह भी आया कि एक पूर्व सर्किल अफसर ने छद्म रूप बना भांग की दुकान के सेल्समैन से डील कर भारी मात्रा में गांजा बरामद किया,उन्होंने पत्रकारों के सामने यह दावा भी किया कि सर्किल में मादक पदार्थों की बिक्री नहीं होने दी जाएगी लेकिन उनका यह दावा एक सप्ताह में ही धराशाई हो गया और ड्रग माफिया से डील होने के बाद बिक्री शुरू हो गई,जो आज भी मुसलसल जारी है। सौंह, महरहा,तेंदुली,कोरसम,बहरौली जैसे गांवों में तो कई घरों से भी बेंचा जा रहा है। बिंदकी नगर में तो शाम होते ही रोडवेज बस स्टॉप,तहसील कैंपस,अस्पताल और बाईपास रोड युवा गंजेड़ीयों के पसंदीदा स्थल हैं,जहां शाम का धुंधला होते ,ही नशेबाजी शुरू हो जाती है !
सबसे बड़ी बात यह है कि वही बिंदकी थाना क्षेत्र के मुरादपुर गांव में हर एक दुकान पर देशी और अंग्रेजी शराब की अवैध बिक्री जोरों शोरों से चल रही है इस पर बिंदकी कोतवाली पुलिस मौन व्रत धारण किए हुए हैं आखिर आप समझेंगे क्या पुलिस की संरक्षण में ऐसे अवैध कारोबार किया जा रहा है अगर नहीं है तो पुलिस ऐसे अवैध कारोबार में अंकुश लगाने में क्यों असमर्थ हैं