बस्ती 15 जुलाई 2020 सू०वि०, भारत सरकार के राष्ट्रव्यापी कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम में राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अन्तर्गत जिले के 500 गाॅव को चयनित किया जायेंगा।

यूपी फाइट टाइम्स से
ब्यूरो चीफ बस्ती
शिव प्रताप सिंह

उक्त जानकारी जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने दी है। उन्होने बताया कि इसका उद्देश्य कृत्रिम गर्भाधान आच्छादन में वृद्धि करना है। इसमें गोवंशीय एवं महिषवंशीय पशुओ का कृत्रिम गर्भाधान कराके पशुपालन को बढावा दिया जायेंगा। उन्होने बताया कि पूरे जिले में ऐसे 500 गाॅव चयनित किए जायेंगे, जिसमें कम से कम 100 प्रजनन योग्य पशुु अवश्य हो। इसमें दुग्ध सहकारी समिति सक्रिय गाॅव को शामिल किया जायेंगा। 
उन्होने बताया कि यह परियोजना 01 अगस्त 2020 से 31 मई 2021 तक संचालित की जायेंगी। इस परियोजना के तहत माझा क्षेत्र के गाॅव में क्लस्टर तैयार किया जायेंगा। पशुपालन को बढावा देने के लिए भारत सरकार द्वारा यह योजना लागू की गयी है। इसमें देशी नस्ल के अधिक से अधिक पशुओ को शामिल किया जायेंगा। 
उन्होने बताया कि गाॅव के चयन के लिए पशुपालन, राजस्व तथा दुग्ध विकास विभाग को निर्देशित किया गया है। वे भारत सरकार के गाईडलाईन के अनुसार गाॅव का चयन करेंगे। उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के कारण गाॅव को लौटे प्रवासी कामगारों को इस योजना के तहत अधिक से अधिक लाभ पॅहुचाया जायेंगा। डेयरी के माध्यम से उनको काम भी मिलेगा तथा उनकी आमदनी भी बढेगी।
उन्होने बताया कि जिले में लगभग 296 दुग्ध समितिया सक्रिय है। इनके माध्यम से अधिक से अधिक पशुपालन को बढावा देने के लिए प्रवासी कामगारों को जोड़ा जायेंगा।