कौशांबी, ग्राम वासियों ने किया धूमधाम से माता नवदुर्गा का विसर्जन, महाशक्ति ब्रह्मांड के अनंत शक्तियों में विलीन

0
122

ग्रामवासियों ने किया धूमधाम से नवदुर्गा का विसर्जन। महाशक्ति ब्राह्मण्ड की अनन्त शक्तियों मे विलीन

नवरात्रि एक महत्वपूर्ण प्रमुख त्यौहार है। जिसे पूरे भारत में महान उत्साह के साथ मनाया जाता है। गुजरात में जहां यह समारोह डांडिया और गरबा के रूप में जान पड़ता है। वहीं पर पूर्वी और दक्षिण राज्यों में भी यह अपनी विशेषता रखता है। जबकि उत्तरी राज्यों में नवरात्रि का पर्व भक्तों की भक्ति की पराकाष्ठा को पार कर जाता है।
नवरात्रों के नौ रात्रि के दौरान माता शक्ति के नौ रूपों की पूजा की जाती है। जिसमें विशेष रूप से तीन देवियां महालक्ष्मी, महा सरस्वती और दुर्गा की पूजा की जाती है। जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं। दुर्गा का मतलब “जीवन के दुख को हरने वाली” होता है।
ऐसा ही समारोह कौशांबी स्थित सिराथू के हिसामपुर माढो गांव में प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी संपन्न हुआ। जहाँ तीन अलग अलग स्थानो पर माता की चौकी की स्थापना की गई। इस दौरान ग्राम वासियों में इस पर्व और माता शक्ति के प्रति महान आस्था दिखाई दी। नौ दिन भक्ति के सागर में डुबकी लगाते ग्रामवासी इस पर्व को खास रूप से मनाते हैं।
नौ दिन चलने वाले इस पर्व में ग्राम वासियों ने अष्टमी के दिन कीर्तन भजन और नवमी के दिन भंडारा का आयोजन किया। जिसमें ग्राम वासियों और क्षेत्रवासियों का जनसैलाब उमड़ा।
वही दशमी के दिन माता शक्ति का विसर्जन किया। इसमें सम्मिलित समस्त ग्रामवासियों ने नम आंखों से माता शक्ति को विदाई देते हुए गाँव के समीप नदी में विसर्जित किया ।

दशहरे का पावन पर्व सत्य की जीत का सन्देश दे रहा हैं,
बुराई का दशानन अच्छाई की अग्नि में विध्वंस हो रहा हैं ।

यूपी फाइट टाइम्स के लिए सिराथू कौशांबी से दीपक जायसवाल के साथ उमाकांत गुप्ता की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here