भूख और प्यास से तड़प रहे अन्ना गोवांस

0
114

फतेहपुर न्यूज़: –

सरकार द्वारा गायों की बिक्री पर रोक लगा देने के बाद गोवंश भूख और प्यास से दर-दर भटक रहे हैं । सरकार ने बिक्री पर रोक लगाए जाने के बाद वादा किया था कि गांव गांव में गौशाला का निर्माण करवाया जाएगा । और अन्ना गोवांस को वहीं पर बंद कर उनके खाने-पीने की व्यवस्था करवाई जाएगी । पर सरकार का यह वादा पूरी तरीके से फेल हो गया । और अन्ना जानवर भुखमरी की कगार पर आ गए सीधी बात यह है कि किसानों की फसल बर्बाद कर अन्ना जानवर अपनी पेट भरते थे पर किसानों ने अपनी फसल की रोकथाम के लिए व्यवस्थाएं कर ली जिससे अन्ना जानवर भुखमरी की कगार पर आ गया है । ताजा मामला किशनपुर थाना क्षेत्र के रायपुर भरौल के जंगल का है । जहां पर अन्ना गायों के एक झुंड को देखा गया जो अपनी प्यास बुझाने के लिए करीब 5 से 6 किलोमीटर दूर जाकर यमुना नदी में अपनी प्यास बुझाते हैं । और उन्हें खाने के लिए कुछ नहीं मिलता । भसरौल के जंगल में करीब आधा सैकड़ा अन्ना गांव अपनी भूख मिटाने के लिए इधर-उधर भटक रहे हैं । वही प्यास बुझाने के लिए पानी न मिल पाने से अन्ना जानवरों की हालत दयनीय हो गई है । कुछ दिन पहले ऐसा ही हाल मडौली गांव का भी था। जहां पर अन्ना गोवांस भूख और प्यास से तड़प रहे थे । पर ग्रामीणों व प्रधान की मदद से गांव में एक निजी गौशाला बनवाया गया जिस पर अन्ना मवेशियों को बंद कर उन्हें खाने-पीने की व्यवस्था करवाई गई ।

*रिपोर्ट – ठा. अनीष सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here