कौशांबी- 66 वे परिनिर्वाण दिवस पर संविधान के शिल्पकार बाबा साहब को भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने किया नमन

0
68

कौशाम्बी

64वें परिनिर्वाण दिवस पर संविधान के शिल्पकार बाबा साहब को भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने किया नमन

अमीनपुर संवरो स्थित डॉ अम्बेडकर जी की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित व माल्यार्पण कर पढ़ी गई संविधान की प्रस्तावना।

करारी । करारी के अमीनपुर संवरो में शुक्रवार को 64वें महापरिनिर्माण दिवस के अवसर पर भीम आर्मी कौशाम्बी के सुनील चौधरी के नेतृत्व में दर्जनों भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने संविधान के शिल्पकार बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर जी की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित व माल्यार्पण करके भारत का संविधान की प्रस्तावना पढ़ कर श्रद्धांजलि अर्पित कर नमन किया।

भारतीय संविधान निर्माता,प्रथम कानून मंत्री बोधिसत्व बाबा साहब डॉ अम्बेडकर के 64वें महापरिनिर्वाण का कार्यक्रम क्षेत्र सहित पूरे जनपद में जोरशोर से मनाया गया। इसी सिलसिले में करारी के अमीनपुर संवरो गांव स्थित बाबा साहब डॉ अम्बेडकर की प्रतिमा के समक्ष भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने दीप प्रज्वलित व माल्यार्पण करके भारत का संविधान की प्रस्तावना पढा,और भारतीय संविधान की रक्षा के संकल्प के साथ ही बाबा साहब डॉ अम्बेडकर के विचारों पर एकसुर में चलने का आह्वान किया। इस दौरान भीम आर्मी कौशाम्बी के सक्रिय सदस्य सुनील चौधरी ने कहा कि बाबा साहब डॉ अम्बेडकर भारतीय संविधान के रचयिता और देश के प्रथम कानून मंत्री के साथ आधुनिक भारत के संस्थापक भी हैं। दुनिया बाबा साहब को सूर्य के नाम से जानती है। बाबा साहब के विचारों पर चलकर ही देश प्रगति पर जा सकता है। किन्तु बाबा साहब को भारतीय स्कूलों कालेजों में न पढ़ाया जाना एक प्रकार से उनके विचारों की हत्या है। जबकि दुनिया के कई देशों के विद्यालयों में बाबा साहब डॉ अम्बेडकर के इतिहास और संघर्षों को पढ़ाया जाता है। हैदराबाद और उन्नाव रेप केस पर पूछने पर उन्होंने हैदराबाद बाद पुलिस के कार्यों की सराहना की है,और उन्नाव रेप केस के आरोपियों को भी हैदराबाद डॉ प्रियंका रेड्डी रेप केस के दरिंदों की भांति उन्नाव केस के आरोपियों को भी सजा की मांग की है। इस मौके पर राम नरेश सरोज,इंद्रजीत गौतम,दिलीप चौधरी,लवलेश सरोज,राज अग्रहरि,सुशील दिवाकर,राजीव रैना, ग्राम प्रधान सादिकपुर सेमरहा शिव भवन,रामबालक गौतम आदि भीम आर्मी के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यू पी फाइट टाइम्स के लिए
कौशाम्बी से सुनील कुमार की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here