महराजगंज/लोक जन समाज पार्टी (भारत)के राष्ट्रीय अध्यक्ष सतीश कुमार चतुर्वेदी के अध्यक्षता मे पार्टी के गोरखपुर स्थित कार्यलय पर एक बैठक किया गया

महराजगंज/लोक जन समाज पार्टी (भारत)के राष्ट्रीय अध्यक्ष सतीश कुमार चतुर्वेदी के अध्यक्षता मे पार्टी के गोरखपुर स्थित कार्यलय पर एक बैठक किया गया

महराजगंज
आकाश अग्रहरि

लोक जन समाज पार्टी (भारत) के प्रदेश अध्यक्ष नरसिंह तिवारी के अध्यक्षता मे पार्टी के गोरखपुर स्थित कार्यलय पर एक बैठक किया गया।जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय अध्यक्ष सतीश कुमार चतुर्वेदी उपस्थित रहे।आज देश में किसान भाइयों के उपर हो रहे अत्याचार के संदर्भ मे कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि विगत 6 वर्षों से केंद्र की एनडीए सरकार लगातार किसान विरोधी फैसले ले रही है. अब ये किसानों से बात करने का नाटक कर रहे है लेकिन क़ानून बनाते समय इन्होंने किसानों या उनके संगठनों और राज्य सरकारों से राय-मशवरा किये बिना ही संसद में एकतरफ़ा 3 कृषि विधेयकों को पास करा लिया। तेल, रेल, जहाज, बंदरगाह, हवाई अड्डे, बीएसएनएल, एलआईसी बेचने के बाद भाजपा सरकार अब किसानों की ज़मीन भी पूँजीपतियों के हाथों बेचने पर तुली है। मोदी सरकार कृषि क्षेत्र का भी निजीकरण करने को आतुर है।अगर नए कृषि विधेयक इतने ही अच्छे और किसानों के पक्ष में है तो सरकार MSP यानि न्यूनतम समर्थन मूल्य को अनिवार्य रूप से लागू क्यों नहीं करती? अनिवार्य रूप से MSP लागू करने में मोदी सरकार को क्या परेशानी है? सरकार के इस फैसले से मंडी व्यवस्था ही खत्म हो जायेगी।इससे किसानों को नुकसान होगा और कॉरपोरेट को फायदा होगा।” इस विधेयक में वन नेशन, वन मार्केट की बात कही जा रही है लेकिन वन MSP की बात क्यों नहीं की जा रही? सरकार इसके जरिये कृषि उपज विपणन समितियों (APMC) के एकाधिकार को खत्म करना चाहती है। अगर इसे खत्म किया जाता है तो व्यापारियों की मनमानी बढ़ेगी, किसानों को उपज की सही कीमत नहीं मिलेगी।सबसे बड़ा खतरा यह है कि इस बिल के पास हो जाने के बाद सरकार क