You are currently viewing बच्चे की मौत के बाद डिप्रेशन में आए सिपाही ने उठाया खौफनाक कदम

बच्चे की मौत के बाद डिप्रेशन में आए सिपाही ने उठाया खौफनाक कदम;

किराए के मकान में फांसी लगाकर की आत्महत्या;

देवरिया। जनपद के रामपुर कारखाना थाने पर तैनात एक सिपाही ने बुधवार की रात फंदे से लटककर जान दे दिया। जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। वह रामपुर कारखाना कस्बे में किराए के मकान में परिवार के साथ रहता था। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। देर रात एसपी डॉक्टर श्रीपति मिश्र ने मौके पर पहुंच कर घटना का जायजा लिया।
संतकबीरनगर जिले के महुली थाना क्षेत्र के जसुई देवघाट गांव के रहने वाले पप्पू सिंह वर्ष 2016 में कांस्टेबल के पद पर चयनित हुआ था। वह कुछ समय से देवरिया में तैनात था। तीन महीने पहले ही पुलिस लाइन से उसे रामपुर कारखाना थाने पर तैनाती दी गई थी। वह अपने पत्नी के साथ रामपुर कारखाना मुख्य चौराहा स्थित एक किराए के मकान में रहता था। हालांकि कुछ दिनों से पत्नी घर पर गई हुईं थीं और सिपाही आवास पर अकेले ही रह रहा था। बताया जा रहा है कि पत्नी ने ऑपरेशन से एक बच्चे को जन्म दिया था। जन्म के बाद बच्चे की मौत हो जाने से सिपाही अवसाद में आ गया था।
सूत्रों की मानें तो मंगलवार की रात उसने माता पिता से मोबाइल फोन पर काफी देर तक बात की थी। इसके बाद सिपाही ने किराए के मकान में फंदे से लटककर सुसाइड कर लिया। मकान मालिक ने जब काफी देर तक सिपाही को कमरे से बाहर आते नहीं देखा तो उसने इस बात की जानकारी अन्य पुलिसकर्मियों को दी । उसी मकान में आधा दर्जन से अधिक महिला पुलिसकर्मी भी रहती हैं । पुलिस कर्मियों ने दरवाजा किसी तरह से खोला तो पप्पू सिंह का शव फंदे से लटक रहा था।  थानाध्यक्ष गोपाल प्रसाद राजभर ने कहा कि सिपाही पप्पू सिंह रामपुर कारखाना थाने पर तैनात था। मौत की वजह की अभी कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। बताया जा रहा है कि ऑपरेशन के बाद हुए बच्चे की मौत से वह अवसाद में था। उसके परिजनों को घटना की सूचना दे दी गई है। उसके माता- पिता आ रहे हैं।

देवरिया से ज्ञानेश्वर बरनवाल की रिपोर्ट।