You are currently viewing प्रयागराज ll धूमधाम से मनाई गई,अग्रसेन जयंती” ll

प्रयागराज ll धूमधाम से मनाई गई,अग्रसेन जयंती” ll
*अग्रहरि वैश्य समाज प्रयाग के तत्वावधान में
*श्री अग्रसेन जयंती समारोह का कार्यक्रम सफ़लता पूर्वक सम्पन्न हुआ lअग्रहरि धर्मशाला* पत्थर गली, नखाश कोना “प्रयागराज” में जन्मोत्सव का समारोह कराया गया/ *जयंती समारोह कार्यक्रम
सायं 5 बजे से प्रारंभ हुआ यह कार्यक्रम रात्रि 10. बजे तक चला l
कार्यक्रम का शुभारंभ *अग्रहरि समाज(रजि.) के “राष्ट्रीय संरक्षक” राम जी अग्रहरि* ने “दीप प्रज्वलित” करके किया l
कार्यक्रम में आए स्वजातीय बँधुओं को संबोधित करते हुए *संरक्षक ने कहा कि “महाराजा श्री अग्रसेन” जी समाज के एक ऐसे प्रणेता थे जो कि *ऊँच – नीच का भेदभाव नहीं करते थे, “एक मुद्रा-एक ईट” को समाज के उत्थान हेतु ‘प्रचलन’ में लाये l* कुलीन वर्ग, उच्च वर्ग, मध्यम वर्ग एवं निम्न वर्गीय स्वजातीय बँधुओं को जोड़कर ही *”समाज” को उंचाई पर पहुंचाया जा सकता है lकार्यक्रम के मुख्य वक्ता रमेश अग्रहरि *
ने सभा को शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता पर अपना वक्तव्य दिया और महाराजा श्री अग्रसेन जी के आदर्श व्यवस्था के बारे में भी समाज को अवगत कराया l
सबसे अंत में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सुभाष चन्द्र अग्रहरि निर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष 🙁 अग्रहरि समाज)
ने महाराजा श्री अग्रसेन महाराज जी के बारे
में सविस्तार वर्णन किये तथा उनके आदर्शो, सिद्धांतॊ, नैतिक मूल्यों पर आधारित कार्यो का भी एक – एक कर विस्तृत व्याख्या दी l
महाराज जी के बारे में इतनी बारीकी से जानकारी उनकी योग्यता को सिद्ध करता है l
महाराज जी के बारे में इतनी जानकारी प्राप्त होने पर उपस्थित सभी अग्रहरि बँधु हर्ष
के साथ गर्व महसूस किए कि अग्रहरि समाज
का नेतृत्व सही हाथों में है l
कार्यक्रम में नव निर्वाचित “राष्ट्रीय महामंत्री”
श्री अशोक अग्रहरि जी ने अग्रसेन जी के नाम
से भारत सरकार द्वारा दिया गया सम्मान का भी विस्तृत व्याख्या दी l
जैसे – 26 सितम्बर 1976 को अग्रसेन जी के नाम पर “डाक टिकट” जारी करना l 1995 में कोरिया द्वारा खरीदा गया माल वाहक युद्ध पोत जिसका नाम महाराजा अग्रसेन के नाम पर था l राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 10 महाराज अग्रसेन के नाम पर है, इत्यादि l
कार्यक्रम का संचालन करते हुए –
ओम प्रकाश अग्रहरि* (जिलाध्यक्ष)
(अग्रहरि समाज प्रयाग, जिला प्रयागराज) ने स्वजातीय बँधुओं को समाज के राष्ट्रीय चुनाव. के बारे में बतलाया कि अब चुनाव पर्दे के पीछे व आलीशान होटलॊ में नहीं बल्कि खुले मैदान व सार्वजनिक स्थानों पर होगा और इसकी शुरुआत अब हो चुकी है l अग्रहरि समाज भारत का भाग्य अब 250 लोगों के हाथों में नहीं बल्कि 5000 पत्रिका के सदस्यों के हाथों में होगा
महिला पदाधिकारी निशा अग्रहरि
ने सामाजिक संरचना को मजबूती
प्रदान करने की अपील की l
कार्यक्रम में शामिल “जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष”
संजय अग्रहरि (हँडिया) ने अग्रसेन महाराज
की “जय” बोलकर कार्यक्रम का समापन
किया l
कार्यक्रम में मुख्य रूप से –
सूर्यबली अग्रहरि, सालिकराम अग्रहरि, विनय अग्रहरि, दुर्गा प्रसाद अग्रहरि, राजेश अग्रहरि (M.R.), जगदीश प्रसाद अग्रहरि, राजेन्द्र अग्र., संतोष अग्र., राकेश अग्र.(महेवा), राजकिशोर अग्र., संजय अग्र.(मीडिया), राजकुमार अग्र.,
रेखारानी अग्रहरि, बिंदो अग्रहरि, सविता अग्रहरि, पदमा अग्रहरि, सीमा अग्रहरि, निशा अग्रहरि, सुधा अग्रहरि, उषा अग्रहरि, अभिलाषा अग्रहरि, नीतू अग्र.आदि कई पदाधिकारी एवं स्वजातीय बँधु शामिल रहे ! जयसिंह अग्रहरिकी रिपोर्ट