अस्पताल में सभी व्यवस्थाओं को दुरुस्त करा ले – जिलाधिकारी

व्यूरो चीफ बालकृष्ण विश्वकर्मा

चित्रकूट – जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय ने जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया ।
जिलाधिकारी ने इमरजेंसी वार्ड, एसएनसीयू वार्ड, अल्ट्रासाउंड एक्सरे मशीनें, जच्चा-बच्चा वार्ड, पुरुष वार्ड, महिला वार्ड, आइसोलेशन वार्ड, दवा वितरण कक्ष, पट्टी कक्ष, वाह्य रोगी विभाग, पोषण पुनर्वास केंद्र, आयुष्मान भारत कक्ष, सीटी स्कैन आदि का निरीक्षण किया।
निरीक्षण के दौरान जिला अस्पताल में साफ-सफाई ठीक ढंग से न पाए जाने पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ आर के गुप्ता को निर्देश दिए कि साफ-सफाई ठीक ढंग से कराएं। जो जिला अस्पताल में टूटी फूटी कुर्सियां आदि फर्नीचर पड़ा है उसको तत्काल यहां से हटा दिया जाए । उन्होंने मरीजों से दवा की उपलब्धता तथा भर्ती मरीजों से भोजन आदि की जानकारी की जिसमें मरीजों ने बताया कि उपलब्ध कराया जा रहा है। जिलाधिकारी ने चिकित्सकों से जानकारी की कि आप लोगों द्वारा आज कितने मरीजों को देखा गया और चिकित्सकों को निर्देश दिए कि जो सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार के मरीज पाए जाए तो उनका शत प्रतिशत सेंपलिंग अवश्य कराएं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी से यह भी कहा कि जो लोग जांच के लिए आ रहे हैं यहां पर भीड़ अधिक लग रही है और कर्मचारियों को लगाकर समय से लोगों की अल्ट्रासाउंड व एक्सरे आदि जांचें करायी जाएं। निरीक्षण के दौरान वार्ड ब्वॉय व स्टाफ नर्स प्रॉपर ड्रेस में न पाए जाने पर उन्होंने सख्त निर्देश दिए कि आप लोग प्रॉपर ड्रेस पर रहे और पोषण पुनर्वास केंद्र पर व्यवस्था ठीक न होने पर पोषण पुनर्वास केंद्र की प्रभारी दीक्षा सिंह के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को दिए। रक्त कोष में चार यूनिट रक्त पाए जाने पर जिलाधिकारी ने कहा कि यह बहुत कम है और व्यवस्था करें जिला अस्पताल में 41 लोगों का आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कराया गया था इस पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निर्देश दिया कि और अधिक से अधिक लोगों को डाउनलोड कराएं। उन्होंने कहा कि आइसोलेशन वार्ड पर सभी व्यवस्थाएं क्रियाशील रहना चाहिए इसका आप विशेष ध्यान दें। निरीक्षण के दौरान डॉ रवि द्विवेदी के अनुपस्थित पाए जाने पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने बताया कि यह जिला अस्पताल से अक्सर अनुपस्थित रहते हैं इस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से कहा कि इनके खिलाफ कार्यवाही कराएं।जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निर्देश दिए कि जिला अस्पताल में व्यवस्थाएं ठीक नहीं है सभी व्यवस्थाओं को दुरुस्त करा ले नहीं तो आप लोगो के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी किसी भी दशा में जिला अस्पताल पर कोई कमी नहीं मिलनी चाहिए ।