धर्म को हमेशा धारण करो, कभी भी पापी पेट के लिये गुनाह मत करो- बाबा उमाकान्त जी महाराज

जय गुरु देव 04.02.202,नवापुर, नन्दूरबार (महाराष्ट्र)*धर्म को हमेशा धारण करो, कभी भी पापी पेट के लिये गुनाह मत करो- बाबा उमाकान्त जी महाराज*समस्त विश्व को शाकाहार और मानवता का सन्देश देने वाले उज्जैन के पूज्य सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज ने 4 फरवरी 2021 को नवापुर नंदुरबार, महाराष्ट्र में सत्संग सुनाते हुए बताया कि आगे का समय बहुत खराब आ रहा है। एक -एक बात गिनाने का अभी इस सतसंग में समय नहीं है लेकिन आप यह समझो कि 2020 से 2021 का साल बहुत खराब जाएगा। इसमें बहुत नुकसान होगा। लोगों को तकलीफें भी आएंगी।*लोगों को बराबर जय गुरु देव नामध्वनि बुलवाते रहो*महाराज जी ने कहा कि प्रेमियों! खराब समय से बचने के लिए बराबर आप लोग कोशिश करते रहना। परिवार वालों को बचाने, मिलने-जुलने वालों को, रिश्तेदारों को बचाने की कोशिश करते रहना। भजन, ध्यान, सुमिरन आप जो लोग नामदानी हो, करते रहना और कराते रहना। “नामध्वनि” बराबर बुलवाते रहो। *जयगुरुदेव जयगुरुदेव जयगुरुदेव जय जयगुरुदेव*यह जय गुरु देव नाम ध्वनि है, महामंत्र है। इसको बराबर बोलते रहो और भगवान पर भरोसा रखो, विश्वास रखो। धर्म को धारण किए हुए रहो। कभी भी पापी पेट के लिए गुनाह मत करो। प्रकृति के नियम का उल्लंघन मत करो। प्रकृति के नियम के अनुकूल ही चलो। प्रारब्ध पर विश्वास करना। जब गुरु की दया होती है तब प्रारब्ध से बाहर की चीजें भी मिल जाती है। तो प्रारंभ पर अपने भरोसा करो जिसको भाग्य कहते हो और कर्म को करते जाओ। बुरा कर्म मत करो।*देश की संपत्ति का नुकसान अपने पैरों में कुल्हाड़ी मारने जैसा है*देखो प्रेमियों! देश भक्ति बनाए रखो। देश की संपत्ति आपकी अपनी संपत्ति है। हड़ताल, तोड़फोड़, आंदोलन, धरना, घेराव, हिंसा, हत्या, आत्महत्या – ये कभी भी मत करना।*नियम का उल्लंघन मत करना और लालच कभी मत करना*‌महाराज जी ने कहा प्रेमियो! नियम का उल्लंघन करने से ही नुकसान होता है। इसे आप सब लोग मत करना। और लालच में मत फ़सो। अगर लालच में आप फ़सोगे तो आपका जो घर में है, वह भी चला जाएगा, फिर वापस नहीं आएगा। लोग ब्याज का लालच दे देते हैं जैसे नौकरी लगवाने के लिए, एडमिशन, प्रमोशन कराने के लिए तरह-तरह का लालच देते हैं लोग। आपको सीधा-साधा देखकर सोचते हैं कुछ इनके कमाई रखी हुई है तो लालच में डाल कर लेकर के चले जाते हैं। ठगी वगैहरा भी आगे बहुत बढ़ेगी। आप देखोगे 1-2 ठगे हुए दिखेंगे। उससे आप बचे रहना। अगर कोई आपके दरवाजे पर भूखा आ जाए तो उसे दो रोटी खिला देना, प्यासा आ जाए पानी पिला देना। आप समझो किसी का बुरा मत चाहो, हो सके तो भला ही करो।।।जयगुरुदेव।। परम् सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज आश्रम उज्जैन मध्यप्रदेश (भारत)