नंद के घर आनन्द भयो जय कन्हैया लाल की

नंद के घर आनन्द भयो जय कन्हैया लाल की।रिपोर्ट प्रमोद यादव ब्यूरोसुल्तानपुर कूरेभार कस्बे मे आयोजित श्रीमद भागवत महापुराण कथा में छठवें दिन विख्यात कथा वाचक व्यास आचार्य महेश त्रिपाठी महाराज ने भगवान कृष्ण जन्मोत्सव की कथा कही । जिसमें भगवान कृष्ण ने जन्म लिया, तो सारा पंडाल जयकारों से गूंज उठा। कथावाचक आचार्य महेश त्रिपाठी ने जेल में जन्म लिया प्रभुजी थाने, जेल में जन्म लियो भजन प्रस्तुत किया तो श्रद्धालु झूमने लगे। श्रद्धालुओं ने भगवान कृष्ण पर फूल बरसाए। इस कड़ी में कथावाचक ने कहा कि मुसीबत में केवल भगवान ही साथ देते हैं। जबकि प्राणी मोहमाया और परिवार मोहमाया के जाल में फंसकर प्रभु को भूल जाता है। इसके बाद कथा वाचक ने भगवान कृष्ण की बाल लीलाओं का वर्णन करते हुए पूतना वध की कथा कही कि मेरे प्रभु का स्वभाव ऐसा है कि जिस पूतना का ना कुल अच्छा न नाम। ऐसी पूतना भी भगवान को जहर पिलाने आई तो प्रभु ने उसे सद्‌गति दे दी। अंत में श्रद्धालुओं को प्रसाद का वितरण किया गया। कथा का आयोजन कस्बे के घेराऊ प्रसाद कसौधन एवं उनकी पत्नी जनकदुलारी ने गया जगन्नाथ चारों धाम दर्शन के उपरांत आयोजित कराया।