आक्रोशित किसानो ने आन्ना जानवरों को किया विद्यालय में बंद

व्यूरो चीफ बालकृष्ण विश्वकर्मा

राजापुर । चित्रकूट – जहाँ एक ओर उ०प्र० सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ गौवंशों के संरक्षण हेतु पूरे प्रदेश में एक कानून बनाकर पशु आश्रय गृह के निर्माण के लिए आदेश जारी किए हैं। वहीं रामनगर ब्लाक अन्तर्गत ग्राम पंचायत तीरमऊ में स्थाई व अस्थाई गौशाला न होने के कारण गाँव के किसानों की खरीफ की फसलें अन्ना जानवर नष्ट कर रहे हैं। आक्रोशित किसानों ने अन्ना गौवंशों को इकट्ठा करके इंग्लिश मीडियम प्राथमिक विद्यालय में लगभग एक सैकड़ा अन्ना पशुओं को बुधवार को बन्द कर ताला लगा दिया है और शिक्षक मजबूर होकर स्कूल के पास बाहर बैठे रहे।
गाँव के दिनेश यादव , मोहित त्रिपाठी , पारसनाथ तिवारी , श्रीकांत , बाबूलाल , छंगू , भैरव त्रिपाठी , रामनाथ त्रिपाठी , बाबूलाल विश्वकर्मा , नीरज त्रिपाठी , शिवबाबू गर्ग आदि किसानों ने बताया कि पूर्व में प्रधान के द्वारा अस्थाई गौशाला का निर्माण कराया गया था लेकिन इस वर्ष कोई भी गौशाला का निर्माण न कराने के कारण गाँव तथा क्षेत्र के अन्ना गौवंश खरीफ़ की फसल को इस प्रकार नष्ट कर रहे हैं कि खरीफ की फसलें खेतों में ठूँठ खड़ी हुई हैं और पिछले कई वर्षों से दैवीय आपदा के कारण किसान भुंखमरी की कगार पर खड़ा हो गया है। अपने जीविकोपार्जन के लिए तथा अपनी फसलों को बचाने के उद्देश्य से अन्ना गौवंशों को स्थाई व अस्थाई गौशाला न होने के कारण मजबूरन विद्यालय में बन्द करना पड़ा है। उधर उपजिलाधिकारी के निर्देश पर विद्यालय में गौवंश बन्द होने की खबर पाकर खण्ड विकास अधिकारी रामनगर आशाराम , एडीओ पंचायत आशुतोष कुमार तथा नायब तहसीलदार राजापुर पुष्पेन्द्र सिंह गौतम , प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार सिंह मौके में पहुंचकर किसानों से वार्ता के दौरान बताया गया कि प्रधान व सचिव के माध्यम से अस्थाई गौशाले का निर्माण शुरू करा दिया गया है। जल्द ही गौशाला बनवाकर उक्त गौवंशों को अस्थाई गौशाला में रखने की व्यवस्था की जा रही है। शुक्रवार को सुबह 10:00 बजे खण्ड विकास अधिकारी रामनगर व प्रधान की उपस्थिति में विद्यालय का ताला खुलवाकर बन्द गावंशों को अस्थाई गौशाला में रखने की व्यवस्था कर दी गई है।


उधर उपजिलाधिकारी राजापुर राहुल कश्यप विश्वकर्मा ने बताया कि ग्राम पंचायत तीरमऊ में बीडीओ रामनगर , एडीओ पंचायत , नायब तहसीलदार राजापुर , प्रभारी निरीक्षक राजापुर को मौके में भेजा गया था, गाँव के किसानों की कुछ समस्याओं को निस्तारित करने के निर्देश जारी किए गए हैं तथा जिन किसानों ने विद्यालय में गौवंशों को बन्धक बनाया है उन्हें चिन्हित करते हुए कानूनी कार्रवाई कराई जाएगी।