You are currently viewing FATEHPUR- जिलाधिकारी से बहू व उसके माता-पिता के खिलाफ लडके के मरवा डालने का आरोप लगाकर लगाई न्याय की गुहार

जिलाधिकारी से बहू व उसके माता-पिता के खिलाफ लडके के मरवा डालने का आरोप लगाकर लगाई न्याय की गुहार

यूपी फाइट टाइम्स
ठा. अनीष सिंह

फतेहपुर(ब्यूरो)– कोतवाली क्षेत्र के सुजानीपुर गांव निवासी कल्लू पुत्र स्व 0 गंगादीन ने अपने पुत्र के पत्नी व पत्नी के माता-पिता पर पैसो के चलते मार डालने का जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे को शिकायती पत्र देकर आरोप लगाकर लगाई न्याय की गुहार।
खागा कोतवाली सुजानपुर गांव निवासी कल्लू पुत्र स्वर्गीय गंगादीन ने जिलाधिकारी को दिए गए शिकायती पत्र में गुहार लगाते हुए कहा है कि मैंने अपने लड़के राजकुमार की शादी श्रीमती कुसुम कली पुत्री श्रीनाथ निवासिनी ग्राम टेकारी थाना खागा जिला फतेहपुर के साथ किया था ।कुसुम कली का चाल चलन सही नहीं था। इसलिए मेरा लड़का अपनी पत्नी कुसुम कली को मारता पीटता था ।और मेरा लड़का ईट भट्टे में लेबर भेजने व रुपए बांटने का काम करता था। दिनांक 6:10 2011 को अपनी पत्नी कुसुम कली को विदा कराने हेतु अपनी ससुराल टिकारी गया था मेरे लड़के के पास लेबरों को भेजने देने हेतु ढाई लाख रुपया था ।और शाम को अपनी पत्नी को रखने के लिए दे दिया। अभी मेरे लड़के की पत्नी वह पत्नी के पिता एवं पत्नी की माता का रुपया देखकर नियत खराब हो गई जिससे मेरे लड़के को शराब में जहर मिलाकर पिला दिया जिससे मेरे लड़के की दिनांक 7:/10 /2011 को मौत हो गयी। जिसका मुकदमा अपराध संख्या 11A/2013धारा 328/302 IPC का सी जे एम फतेहपुर के न्यायालय में विचाराधीन है। और इन्होंने बताया कि जब से मेरे लड़के की मृत्यु हो गई ।तब से कुसुम कली अपने मायके में रह रही है। और कुसुम कली अक्सर मुझसे आधी जमीन व आधा घर के लिए अपने नाम बैनामा करने को कहती है ।और बैनामा करने से इंकार कर देता हूं ।इसलिए कुसुम कली ने झूठ ही घटना बनाकर मुझे व मेरी पत्नी को दफा498A/323/504/506/328/307 IPC थाना खागा जिला फतेहपुर में जेल भिजवा दिया था जिसमें मुझे व मेरी पत्नी की जमानत उच्च न्यायालय इलाहाबाद से हुई थी। और मेरे खिलाफ उपरोक्त मुकदमा माननीय अति0 जिला जज कोर्ट नंबर 5 फतेहपुर में चल रहा है। जिसमें दिनांक 08/07/2021 को तारीख लगी है। और मेरी बहू अपने माता-पिता के साथ दिनांक 31/5/2021को मेरे घर आई और मुझसे कहने लगी कि तुमको आधी जमीन व आधा घर मेरे नाम बैनामा करना है कि नहीं, मैंने बैनामा करने से इंकार कर दिया ।तब उपरोक्त तीनों ने मुझको मां बहन की बुरी बुरी गालियां देते हुए लात घुसा व थप्पड़ों से काफी मारा पीटा तथा जाते समय तीनों ने मुझको यह धमकी दिया कि अगर तुमने इस घटना की कहीं पर शिकायत किया तो हम लोग तुम्हें जान से मार देंगे ।तथा यह भी धमकी दिया कि अगर तुमने आधे घर व आधे जमीन का बैनामा मेरे नाम नहीं किया तो मैं इस बार बलात्कार का केस लगवा कर तुम्हें जेल भिजवा दूंगी।