You are currently viewing अराधना मिश्रा और प्रमोद तिवारी कि गिरफ्तारी हुई तो होगा जन आंदोलन। :तलत अजीम:

👉अराधना मिश्रा और प्रमोद तिवारी कि गिरफ्तारी हुई तो होगा जन आंदोलन। :तलत अजीम:

🗞️🖊️यूपी फाइट टाइम्स के लिए कौशाम्बी से विशेष संवाददाता – पवन साहू की रिपोर्ट

📝प्रतापगढ़ में सांसद संगम लाल गुप्ता के साथ हुई झड़प के बाद कांग्रेसी सदन की नेता अराधना मिश्रा और CWC सदस्य प्रमोद तिवारी और उनके करीबी पचास कांग्रेसियों पर मुकदमा दर्ज होने के बाद पूरे प्रदेश मे राजनीति गर्म हो गई है।
कौशाम्बी मे भी मुकदमा दर्ज होते ही कांग्रेसियों मे उबाल आ गया। जिसके बाद एक बैठक कांग्रेस के कैंप कार्यालय कसेंदा में हुई है।
पूर्व जिला अध्यक्ष एवं कांग्रेस के पूर्व चायल प्रत्याशी तलत अजीम ने कहा कि जिस तरह से विपक्षी दल कांग्रेस की नेता अराधना मिश्रा और प्रमोद तिवारी के खिलाफ सांसद संगम लाल से झड़प पे फर्जी मुकदमा दर्ज करा रहा है और प्रशासन द्वारा एक पक्षीय कार्यवाही की जा रही है इससे प्रशासन कि मंशा पे संदेह होता है, उन्होंने कहा जिस तरह से सांसद अपने तय समय से घंटों बाद मीटिंग मे पहुंचे उसके बावजुद उनको सम्मान पूर्वक सांगीपुर में मीटिंग में बैठाया गया और जिस तरह से उन्होंने अभद्रता किया वह उनकी मंशा को दिखलाता है।
इसके बावजूद प्रशासन ने बिना जाँच किये सत्ता के दबाव पर एक पक्षीय कार्यवाही करते हुए मुकदमा दर्ज किया वह घोर निंदनीय है उन्होंने कहा कि अगर उनके नेता पे किसी तरह की कार्यवाही हुई तो पूरे कौशाम्बी का कांग्रेसी सड़क पर उतर जायेगा।
इस मौके पर सुखलाल यादव, अजहर लईक, सुरेंद्र सिंह, गुड्डू भारतीय, वीर सिंह दिवाकर, राम प्रकाश, मकबूल अहमद,तौहीद अहमद, अर्शिल इब्राहीम, मो शाद, शाहबाज अहमद, मो नाजिम आदि कांग्रेसी नेता मौजूद रहे।