You are currently viewing पुरानी पेंशन बहाल किए जाने एवं निजी करण के विरोध के में अटेवा ने सौंपा ज्ञापन

पुरानी पेंशन बहाल किए जाने एवं निजी करण के विरोध के में अटेवा ने सौंपा ज्ञापनरिपोर्ट प्रमोद यादव ब्यूरो चीफ सुल्तानपुर ।यूपी फाइट टाइम्सकादीपुर/सुल्तानपुर:-अटेवा ऑल टीचर एण्ड एम्पलाई वेलफेयर एसोसिएशन ने पुरानी पेंशन बहाली हेतु विधायक राजेश गौतम को सौंपा ज्ञापन अटेवा अध्यक्ष कादीपुर अरून सिंह ने कहा कि भारत सरकार की नौकरियों में 1 जनवरी 2004 से तथा उत्तर प्रदेश सरकार की नौकरियों में 1अप्रैल 2005 से पुरानी पेंशन व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया है इसके स्थान पर नई पेंशन प्रणाली लागू कर दी गई है नई पेंशन प्रणाली शेयर बाजार आधारित जोखिमों के आधीन पूर्णतया लाभकारी व्यवस्था है शिक्षकों,कर्मचारियों,अधिकारियों में भारी आक्रोश है पुरानी पेंशन व्यवस्था की बहाली को लेकर शिक्षक,कर्मचारी,अधिकारी अटेवा NMOPS के बैनर तले प्रदेश एवं देश के विभिन्न राज्यों में आंदोलनरत हैं इस व्यवस्था से देश भर के लगभग 70लाख x5=3करोड 50 लाख एवं प्रदेश के14लाखx5=70लाख लोग सीधे प्रभावित हो रहे हैं इसी के साथ भारत सरकार द्वारा विभिन्न सरकारी उपक्रमों का तेजी से निजी करण किया जा रहा है जिससे लाखों लोग सरकारी नौकरियों से वंचित हो रहे हैं ठेका प्रणाली पर कार्य लिए जाने के कारण देशभर के कर्मचारियों का शोषण बढ़ गया है ऐसी दशा में अटेवा ब्लॉक अध्यक्ष कादीपुर अरुण सिंह ने ज्ञापन के संबोधन में फिर कहा कि करोड़ों लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए शिक्षकों,कर्मचारियों,अधिकारियों के बुढ़ापे की लाठी पुरानी पेंशन व्यवस्था को बहाल करने तथा निजी करण बंद करने के संदर्भ में माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार तथा माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर विधायक राजेश गौतम के माध्यम से इस प्रकरण को अवगत कराने का आग्रह किया और साथ-साथ में विधानसभा एवं विभिन्न मंचों पर मांग उठाने की अपील किए इस अवसर पर अटेवा अध्यक्ष कादीपुर अरुण सिंह,सोशल मीडिया प्रभारी आर्टिस्ट चंद्रपाल राजभर, पीयूष कुमार, महामंत्री कादीपुर राहुल मिश्रा, अध्यक्ष अखंडनगर राजेश पाण्डेय,रामद्रीश राजभर, मधुकर पटेल ,विकास कुमार,श्याम नारायण मिश्र आदि लोग उपस्थित रहे।