उत्तर प्रदेश में किसानों व आदिवासियों पर बढे हैं जुल्म- अरुण विद्यार्थी

ब्यूरो चीफ आर पी यादव

कौशांबी। मिर्जापुर के आदिवासियों की बेरहमी से हत्या की बरसी पर उन्हें श्रद्धांजलि देने जा रहे प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू को गोपीगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर आदिवासी व किसानों की आवाज दबाने का काम किया है। नियमों का पालन करते हुए श्रद्धांजलि देने जा रहे प्रदेश अध्यक्ष की गिरफ्तारी लोकतंत्र विरोधी है। उक्त बातें गुरुवार को जिला मुख्यालय ब्लॉक परिसर के गांधी चबूतरे में विरोध प्रदर्शन के दौरान बोलते हुए जिलाध्यक्ष अरुण विद्यार्थी ने कही।
इस मौके पर बोलते हुए बोलते हैं उन्होंने कहा कि सरकार विरोधी दलों को पीड़ितों से मिलने नहीं दे रही है। इससे किसानों आदिवासियों और दलितों पर बड़े अत्याचार पर कोई आवाज ना उठा सके। इस मौके पर बोलते हुए पार्टी नेता वेद प्रकाश सत्यार्थी ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार तानाशाही पर उतर आई है और वह लोकतंत्र की हत्या कर किसानों की आवाज दबाना चाह रही है। प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू इस समय प्रदेश के गरीबों किसानों और आदिवासियों के आवाज बने हैं। जिससे चढ़कर उनके खिलाफ इस तरह की अलोकतांत्रिक कार्यवाही की जा रही है । पार्टी कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन कर नेता व पदाधिकारियों को तत्काल रिहा किए जाने की मांग सरकार से किया है। इस मौके पर प्रमुख रूप से आशीष कुमार मिश्रा पप्पू, देवेश कुमार, वेद प्रकाश सत्यार्थी, आबिदा बेगम, अंकुर तिवारी, इजहार अब्बास, भारत गौतम, इजहार अब्बास, नकुल दिवाकर, अहसान, फूलकली सहित संख्या में पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे।