You are currently viewing बाबा उमाकान्त जी की प्रार्थना – गौ हत्या और कत्लखाने स्वयं बंद करो, आपके अन्य व्यापार में बरकत दिला दूंगा

जय गुरु देव

02.09.2021
प्रेस नोट
उज्जैन, म.प्र.

बाबा उमाकान्त जी की प्रार्थना – गौ हत्या और कत्लखाने स्वयं बंद करो, आपके अन्य व्यापार में बरकत दिला दूंगा

गाय को राष्ट्रीय पशु बनाओ, गौ माता की जान बचाओ

भारत की पवित्र भूमि से गौ हत्या का कलंक मिटाकर, गौ माता को राष्ट्रीय पशु बनाने के लिए विगत कई वर्षों से भारत में व्यापक रूप से जनजागरण अभियान चलाने वाले उज्जैन के पूज्य संत बाबा उमाकान्त जी महाराज ने 8 अप्रैल 2020 को उज्जैन, म.प्र. में दिए व यूट्यूब चैनल जयगुरुदेवयूकेएम पर प्रसारित सन्देश में देश के सभी जिम्मेदारों से गौ रक्षा की प्रार्थना करते हुए कहा की गऊ के दूध और घी जरूरत आदमी को बराबर रहती है। गोमूत्र को अमृत बताया गया। गाय का मांस खाने वाला गोमूत्र नहीं पिएगा लेकिन कह दो कि तुम्हे कोरोना हो गया है और गोमूत्र पियो तब पीएगा ही पीएगा। अब आप यह समझो गोमूत्र से ही कोरोना जाने लग जाए, कोरोना में फायदा हो जाए तो गाय कहां से लाओगे? जब लाखों गायों को रोज काटोगे तो कहां से लाओगे? कैसे यह बच पाएंगे? तो इन चीजों का पता तो है नहीं लोगों को।

आप देश-समाज के लिए इतना त्याग करो, आपके फायदे की ही बात है

हम आपके अधिकार को न छीन रहे हैं, न छीन सकते हैं। सरकार को अधिकार है लाइसेंस देने का और आप को अधिकार है लाइसेंस लेने का। आपने गऊ हत्या का, मुर्गा भैंसा काटने का लाइसेंस ले रखा है तो हम आपके लाइसेंस को रद्द नहीं कर सकते, हम आपके ऊपर दबाव नहीं डाल सकते लेकिन निवेदन-गुजारिश तो आपसे कर ही सकते हैं कि भाई आप देश-समाज के लिए इतना त्याग करो कि आप अपनी तरफ से यह ऐलान कर दो कि हम अब स्लॉटर हाउस नहीं चलाएंगे, सारे कत्लखाने बन्द करते हैं।

इसे छोड़ कर राय मिला कर अन्य व्यापार करो, बरकत दिला दूंगा

आप यह मत सोचो कि आप और आपके बच्चे भूखे मर जाएंगे। जो सब को खिलाता है हम उस मालिक से प्रार्थना करेंगे कि आपके और आपके बच्चों की परवरिश कर दे, बिजनेस-व्यापार जो उसको छोड़ करके करो, उसमें मुझसे राय ले लेना। मैं आपको राय दे दूंगा और उस मालिक से उसमें आपको बरकत दिला दूंगा। लेकिन आप इस काम को बंद कर दो।

हमारी बात को उपर तक पहुंचा दो, आज की तारीख याद कर लो

और आप तक अगर यह आवाज पहुंचे, कोई मीडिया वाले हो, कोई उन तक आवाज पहुंचा सकते हो तो इस आवाज को उन तक पहुंचा दो किसी भी माध्यम से कि उज्जैन के बाबा ने कहा है कि आप बंद करो, बंद कर दो। अगर आप विचार कर लोगे, इस बात को मान लोगे तो आपके लिए ही फायदेमंद रहेगा। नहीं तो यह तारीख नोट कर लो। 8 अप्रैल 2020, उज्जैन आश्रम सायंकाल की बेला में आपसे कहा जा रहा है। आप इस तारीख को आज नहीं याद करोगे तो आगे आपको याद करना ही पड़ेगा कि किसी ने कहा था कि हम अगर उसी समय किए होते तो यह परिस्थितियां न आती, उसका खामियाजा न भुगतना पड़ता।

जिम्मेदारों चूको मत, सबके हित की बात है

अब इस काम में जो मदद कर सकते हैं या जिनको पावर है, उनसे मैं कहूंगा कि आप अवसर से मत चूको। आप मेरी बातों को पकड़ो। इन बातों में दम है। यह कोई कल्पना या गप नहीं है। आप अपने पावर से या सलाह से या कैसे भी मना करके या कानूनी तौर-तरीके से आप यह जो जीव हत्या हो रही हैं, इसको बंद करा दो। यह देश-विदेश के, आपके घर-परिवार-समाज के लिए हितकारी होगा।