You are currently viewing बिन्दकी : संचारी रोग के रोकथाम के लिए नोडल ,डॉक्टरों के साथ तहसील सभागार में एसडीएम के नेतृत्व में हुई महत्वपूर्ण बैठक

बिन्दकी : संचारी रोग के रोकथाम के लिए नोडल ,डॉक्टरों के साथ तहसील सभागार में एसडीएम के नेतृत्व में हुई महत्वपूर्ण बैठक

यूपी फाइट टाइम्स

बिन्दकी फतेहपुर: जनपद फतेहपुर की तहसील बिन्दकी सभागार में उपजिलाधिकारी निधि बंसल,तहसीलदार चंद्रशेखर यादव व नोडल प्रभारी डॉ० धर्मेन्द्र सिंह की उपस्थिति में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान को लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक हुई ।
वही बिन्दकी तहसील के अंतर्गत सभी सीएचसी, पीएचसी के डॉक्टर और कर्मचारियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई । प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सभी जनपद में संचारी रोग नियंत्रण के लिए प्रयास किए जा रहे हैं ।
विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान दिनाँक 18 अक्टूबर से 17 नवंबर तक संचालित होगा और वही दस्तक अभियान 18 अक्टूबर से 1 नवंबर तक संचालित कराये जायेगे ।
संचारी रोगों की रोकथाम के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को द्वारा जो कार्य और दायित्व होते हैं इनमें से चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग संचारी रोगों तथा दिमागी बुखार से संबंधित रोकथाम का नियंत्रण गतिविधियों के संबंध में विभिन्न विभागों के पीछे जनपद एवं नोडल विभाग का कार्य करेगा । दिमागी बुखार केसेज की निगरानी उपचार एवं परिवहन की व्यवस्था नि:शुल्क करेगा । इन सारी गतिविधियों में ग्रामीण क्षेत्रों में ट्रैक्टर के जनत्व का आकलन लारवा रोधी गतिविधियां ग्राम स्वच्छता समिति के माध्यम से कराया जाएगा इस दौरान संचारी रोग नियंत्रण का प्रचार प्रसार कर के मॉनिटरिंग रिपोर्टिंग एवं अभिलेखीकरण भी कराया जाएगा। इस दौरान संचारी रोग नियंत्रण अभियान के जो कार्यकारी विभाग होते हैं उनमें से सबसे पहले चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग (नोडल विभाग), जिला पंचायती राज विभाग (ग्राम विकास विभाग), नगर विकास विभाग ,पशुपालन विभाग ,महिला एवं बाल विकास विभाग (आई०सी०डी०एस०), शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग, कृषि एवं सिंचाई विभाग, सूचना विभाग ,उद्यान विभाग लगभग सभी अपने दायित्वों का पालन करते हैं जो संचारी रोगों के रोकथाम में ये सारे विभाग कार्य करते हैं । वही नगर विकास विभाग शहरी क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग से संबंध मोबाइल साबित करते हुए फागन लार विसर्जन स्प्रे तथा साफ-सफाई की गतिविधियों का संचालन करेगा नालियों की सफाई खुली नालियों को छपरा एवं पशुओं का निस्तारण करेंगे तथा सड़क के किनारे उगी झाड़ियों को हटाना स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता हेतु हैंडसेट की रिबोरिंग पिछले हैंडपंपों का प्रयोग करने के लिए लाल रंग चेंज करना होगा मलिन बस्तियों के संवेदनशील आबादी के समूहों में अपनी गतिविधियों को केंद्रित करना बहुत ही जरूरी है मोहल्ला निगरानी समितियों के माध्यम से कोविड-19 तथा संचारी रोगों के विषय में जागरूक करने के साथ-साथ कोविड लक्षण वाले व्यक्तियों को मेडिसिन किट उपलब्ध कराने में सभी लोग सहयोग करें।