You are currently viewing बिन्दकी : वैक्सीनेशन के बाद नहीं दी जाती पैरासिटामोल की टैबलेट।

बिन्दकी : वैक्सीनेशन के बाद नहीं दी जाती पैरासिटामोल की टैबलेट।

फतेहपुर /बिन्दकी : देश में टीकाकरण वृहद स्तर पर हो रहा है हर जगह शत-प्रतिशत टीकाकरण किया जा रहा है और कोरोना जैसी महामारी से लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है लेकिन कहीं ना कहीं टीकाकरण के दौरान लोगों को दवा नहीं उपलब्ध हो पाती है जो लोगों द्वारा सवाल किए जाते हैं ऐसा ही एक मामला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खजुहा और देवमई के तहसील बिन्दकी जनपद फतेहपुर के अन्तर्गत जहां-जहां टीकाकरण किया जा रहा है वहां पर टीकाकरण के बाद मरीजों को पैरासीटामॉल की टैबलेट नहीं दी जा रही है बहुत से लोगों द्वारा बताया गया कि टीकाकरण के बाद पैरासीटामॉल की टैबलेट देना अनिवार्य है क्योंकि फीवर आ जाता है और ज्यादातर सभी लोगों को फीवर आ ही जाता है इस बाबत जब स्वास्थ्य केंद्र अधिकारी खजुहा बिंदकी से फतेहपुर से जानकारी ली जाती है तो उन्होंने बताया की ऐसी कोई समस्या नहीं है पैरासीटामॉल की दवाएं हर एक सेन्टर पर उपलब्ध है और ऐसी कोई समस्या नहीं है लेकिन वही देवमई स्वास्थ्य केंद्र के अधिकारी मनीष शुक्ला से बात की गई तो उन्होंने बताया कि कोविड का टीका जो ग्रामीण क्षेत्र में कैंप लगाकर लगता है तो ग्रामीण लोगों को पेरासिटामोल टैबलेट देना कोई अनिवार्य नहीं है जिसको कोई समस्या हो तो वह स्वास्थ्य केंद्र में आकर बताएं साथ ही सीएमओ फतेहपुर द्वारा यह भी बताया गया कि ऊपर से ऐसा कोई आदेश नहीं है कि दवा ना दी जाए और ऐसा भी नहीं है कि सभी को बुखार आए यह तो कॉमन सभी को लग रहा है वैक्सीनेशन 18 से ऊपर के सभी लोगों का हो रहा है अगर उसके बाद भी अगर कोई दिक्कत आ रही है तो वहां पर पैरासीटामॉल या और कोई दिक्कत पर दवाई दी जाती है उन्होंने कहा कि जहां जहां वैक्सीनेशन सेन्टर हैं वहां पर पैरासीटामॉल की टैबलेट उपलब्ध है और दी जा रही है अगर ऐसा है तो उन्होंने कहा कि हम एमओआईसी खजुहा से बात करके सभी सेन्टर में दवा उपलब्ध कराते हैं । अगर ऐसा नहीं है तो एमओआईसी से बोलकर सभी सेंटरों पर पैरासीटामॉल की टैबलेट उपलब्ध कराई जाएगी ये जिम्मेदारी एमओआईसी की है ।