BREAKING- कोविड 19 को लेकर राहत की खबर नोबेल विजेता का दावा अंतिम चरण में कोरोना

कोविड-19 को लेकर राहत की खबर, नोबेल विजेता का दावा- अंतिम चरण में कोरोना

नोबेल पुरस्कार विजेता माइकल लेविट (Michael Levitt) ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग ने दुनिया को एक बूस्टर शॉट दिया है. इसलिए कोरोना वायरस (Coronavirus) अब अंतिम चरण में है.कोविड-19 को लेकर राहत की खबर, नोबेल विजेता का दावा- अंतिम चरण में कोरोना

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से दुनिया भर में दहशत का महौल है. दुनिया की एक तिहाई से ज्यादा आबादी घरों में रहने को मजबूर है. इसके खात्मे को लेकर अभी तक कोई भी देश इलाज नहीं ढूंढ सका है. लेकिन इस बीच एक राहत की खबर सामने आई है. चीन (China) में महामारी को लेकर सटीक भविष्यवाणी करने वाले नोबेल विजेता ने दावा किया है कि कोरोना वायरस अब अंतिम चरण में है.

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के बायोफिजिसिस्ट और नोबेल पुरस्कार विजेता माइकल लेविट (Michael Levitt) ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग ने दुनिया को एक बूस्टर शॉट दिया है. पूरी दुनिया सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रही है. जो इस महामारी से लड़ने के लिए जरूरी था. इसलिए कोरोना वायरस का
कहर अब जल्द खत्म हो जाएगा.
चीन में महामारी की थी भविष्यवाणी साल 2003 में रसायन विज्ञान में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले माइकल लेविट ने इससे पहले चीन में महामारी के बारे में भविष्यवाणी की थी. माइकल ने कहा था कि चीन में यह महामारी विनाशकारी प्रकोप लेकर आएगी. जिसमें सवा तीन हजार से ज्यादा लोगों की मौत होगी. माइकल के बाद अन्य एक्सपर्ट्स ने भी ऐसी भविष्यवाणी की थी.

आखिरी चरण में कोरोना वायरस
नोबेल विजेता माइकल लेविट ने ‘द लॉस एंजिल्स टाइम्स’ को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ‘हमें कोविड-19 के बढ़ते खतरनाक प्रकोप को रोकने के लिए जो करना चाहिए, वो हम कर रहे हैं. अब हम सब ठीक होने जा रहे हैं. माइकल ने कहा कि परिस्थिति उतनी भयावह नहीं है, जितना डराया जा रहा है. भले कोरोना के मामले बढ़ रहे हों, लेकिन धीमी वृद्धि के स्पष्ट संकेत मिल रहे हैं.

दुनिया भर में 2,58,068 केस
राष्ट्रीय स्वास्थ्य आंकड़े और विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक, दुनिया भर में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या दो लाख 58 हजार 68 है जिसमें 14,640 मृतकों की संख्या भी शामिल है. इटली में संक्रमण के 74,386 मामले हैं और स्पेन में 56,188 मामले हैं.

शाहनवाज खान की रिपोर्ट