You are currently viewing छोटा परिवार सुखी परिवार की अवधारणा को अपनाएं-नीलमणि

रिपोर्टर- रीतेश कुमार सिंह

छोटा परिवार सुखी परिवार की अवधारणा को अपनाएं-नीलमणि

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हाटा के अंतर्गत मंगलवार को उपकेंद्र सेमरी परसौनी पर सास-बेटा-बहु सम्मेलन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का आयोजन स्वास्थ्य विभाग की एएनएम व सीएचओ द्वारा किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों को माल्यार्पण कर किया गया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी नीलमणि यादव व विशिष्ट अतिथि एआरओ सत्यप्रकाश रावत तथा अध्यक्षता ग्राम प्रधान विजय राय ने की। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये नीलमणि यादव ने कहा कि परिवार नियोजन के साधनों को अपनाकर हम छोटा परिवार सुखी परिवार की अवधारणा को परिकल्पित कर सकते है। उन्होंने ने कहा कि सभी नवदम्पति को शादी के दो वर्ष बाद ही बच्चे के बारे में प्लान करना चाहिये। साथ ही दो बच्चो में कम से कम 3 से 5 वर्ष का अंतर होना चाहिये। जिससे जच्चा व बच्चा दोनों स्वस्थ व सुखी रह सके।उन्होंने ने कहा कि इसके लिये स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाये जा रहे परिवार नियोजन के साधन जैसे अंतरा हर तीन माह पर व कॉपर टी,गर्मनिरोधक टैबलेट जैसे माला एन व छाया या कंडोम का उपयोग कर सकते है। ग्राम प्रधान विजय राय ने कहा कि गांव में ऐसे सम्मेलन से जागरूकता बढ़ती है और लोगों को स्वास्थ्य विभाग के योजनाओं की जानकारी मिलती जिसका लाभ लोगो को मिलता हैं। इस शानदार आयोजन के लिये मैं स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम को धन्यबाद देता हूँ। इस सम्मेलन में आशा व आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा एक नुक्कड़ नाटक का शानदार मंचन किया गया। जिसकी वहाँ उपस्थित लोगों ने सराहना करते हुये जोरदार तालिया बजायी। इस सम्मेलन में आदर्श दम्पत्तियो जिनके दो बच्चे है व जिनके दो बच्चों में 3 साल से पांच साल का अंतर है तथा नवदम्पतियो को पुरस्कृत भी किया गया।
कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ क्षयरोग प्रयोगशाला पर्यवेक्षक आशुतोष मिश्र ने किया। सीएचओ नेहा गुप्ता व एएनएम शाहजहां खातून द्वारा आगन्तुको के प्रति आभार प्रकट किया गया। इस दौरान आशा ममता देवी,बीना देवी,सुनीता देवी,नर्वदा देवी,मालती देवी,गीता देवी,रीमा चौहान,पुष्पा चौहान व आंगनबाड़ी कार्यकत्री मंजुलता सिंह,संगीता देवी,सहायिका कमलावती देवी,क्यामुद्दीन अंसारी,हरिश्चंद्र सिंह सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण महिलाएँ व पुरुष मौजूद रहे।