You are currently viewing कोविड सवेदिकन में डोर टू डोर सर्वे

कोविड सवेदिकन में डोर टू डोर सर्वे

        रिपोर्ट- बंशीलाल

कौशाम्बी। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कोविड संवेदीकरण एवं हाउस-टू-हाउस सर्वे अभियान को सफलतापूर्वक संपन्न कराये जाने हेतु जिला स्तरीय टास्कफोर्स की बैठक संपन्न

कोविड संवेदीकरण एवं हाउस-टू-हाउस सर्वे अभियान 07 सितम्बर 2021 से 16 सितम्बर 2021 तक चलाया जायेगा।

जिलाधिकारी सुजीत कुमार की अध्यक्षता में कार्यालय, मुख्य चिकित्साधिकारी सभागार में कोविड संवेदीकरण एवं हाउस-टू-हाउस सर्वे अभियान को सफलतापूर्वक संपन्न कराये जाने हेतु जिला स्तरीय टास्कफोर्स की बैठक आयोजित की गयी।
बैठक में प्रस्तुतीकरण के द्वारा बताया गया कि कोविड संवेदीकरण एवं हाउस-टू-हाउस सर्वे अभियान दिनांक 07 सितम्बर 2021 से 16 सितम्बर 2021 तक चलाया जायेगा। इस अभियान के तहत टीम द्वारा घर-घर जाकर कोरोना वायरस के संबंध में संक्षिप्त व उपयोगी जानकारी एवं कोरोना वायरस से बचाव व रोगथाम के उपायों के बारे में बताया जायेगा। टीम द्वारा परिवार के सदस्यां के स्वास्थ्य के विषय में जानकारी प्राप्त करते हुए बुखार से पीड़ित व्यक्तियों, कोविड के लक्षण युक्त व्यक्तियों, क्षय रोग के लक्षणयुक्त व्यक्तियों, नियमित टीकाकरण से छूटे बच्चों तथा 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के ऐसे व्यक्ति, जिन्होंने कोविड की पहली खुराक न प्राप्त की हो, इन सभी व्यक्तियों की लाइन लिस्ट तैयार कर उपचार व नियमित टीकाकरण से छूटे हुए बच्चों को टीका लगवाया जायेगा तथा 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के व्यक्तियां को जागरूक कर कोविड-19 का टीका लगाया जायेगा। प्रत्येक 05 टीम पर एक सुपरवाइजर नियुक्त किया जायेगा। टीम द्वारा घर के बाहर स्टीकर चस्पा किया जायेगा तथा बताया जायेगा कि कोई लक्षण प्रदर्शित हो तो घबरायें नहीं, स्वयं को व अपने परिवार को सुरक्षित रखने के लिए घर के बाहर चिपकाये गये स्टीकर पर अंकित नम्बर पर संपर्क करें।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि 06 सितम्बर तक सभी तैयारियां अवश्य पूर्ण कर लिया जाय। शासन द्वारा निर्धारित प्रारूप प्रपत्र पर्याप्त मात्रा में एम0ओ0आई0सी0 को उपलब्ध करा दिया जाय तथा यह सुनिश्चित किया जाय कि टीम द्वारा कोविड-19 गाइड लाइन का अनुपालन-यथा-मास्क लगाकर, व सेनेटाइजर का उपयोग कर घर-घर सर्वे किया जाय। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाय कि टीम द्वारा घर -घर सर्वे के दौरान परिवार के किसी सदस्य के न मिलने पर उस घर का दुबारा सर्वे कर आवश्यक जानकारियां प्राप्त की जाय।