बलरामपुर:11 अक्टूबर 2020 (सू0वि0)। सरकार की महत्वकांक्षी ‘‘स्वामित्व योजना’’ का सुभारम्भ करते हुए

संवाददाता राधेश्याम गुप्ता

मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा देश भर के एक लाख लोगों को ‘‘प्रापर्टी कार्ड’’ का डिजिटल वितरण किया गया। उनके द्वारा लाभार्थियों से सीधा संवाद किया गया। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि इस योजना के सुभारम्भ से देश आत्मनिर्भरता की ओर एक और कदम बढ़ा दिया है। स्वामित्व योजना के तहत प्रापर्टी कार्ड (घरौनी) का उपयोग कानूनी दस्तावेज के रूप में प्रयोग करने पर गांवो में विवादों को समाप्ति होगी। गांवो का सटीक लैण्ड रिकार्ड होने के साथ-साथ आर्थिक उपार्जन की सम्भावना भी बढ़ेगी। गांवो में रहने वाले गरीब परिवारों को स्वरोजगार सृजन के लिये बैंकों द्वारा आसानी से कर्ज आदि की सुविधायें भी मुहैया करायी जा सकेंगी। गांवो का सटीक लैण्ड रिकार्ड होने से ग्राम पंचायतों मे बनने वाले स्कूल, अस्पताल, सार्वजनिक शौचालय आदि का कार्य विवादरहित व त्वरित गति से कराया जा सकेगा। इससे गांवो का विकास भी तेजी से होगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में प्रत्येक ग्राम पंचायतों का काम-काज आनलाइन एवं जीयो टैगिंग के साथ-साथ पारदर्शिता से कराया जायेगा।
स्वामित्व योजना के तहत तहसील बलरामपुर सभागार में घरौनी वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। स्वामित्व योजना के तहत जनपद बलरामपुर में प्रथम चरण में 10 ग्रामों का चयन किया गया है। जिसमें 5 ग्राम तहसील बलरामपुर के व 5 ग्राम तहसील उतरौला के सम्मिलित है। घरौनी वितरण कार्यक्रम में ग्राम बरदौलिया, बेलभरिया, चौधरीडीह,परसपुर कमदा, मोतीपुर कला के पांच-पाच लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किया गया। विधायक बलरामपुर पलटूराम, विधायक तुलसीपुर कैलाश नाथ शुक्ल द्वारा ‘‘प्रापर्टी कार्ड’’ (घरौनी) का वितरण किया गया। उन्होंने अपने सम्बोधन मे कहा कि सरकार की महत्वकांक्षी ‘‘स्वामित्व योजना’’ भविष्य में देश की जनता के लिये मील का पत्थर साबित होगी।स्वामित्व योजना के तहत ‘‘प्रापर्टी कार्ड’’ (घरौनी) के वितरण कार्यक्रम में एसडीएम बलरामपुर नागेंद्रनाथ यादव, तहसीलदार बलरामपुर, भूलेख अधिकारी राजेश कुमार, डीपीआरओ, कानूनगो, लेखपाल व संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।