You are currently viewing FATEHPUR- पराली जलाने को लेकर जिलाधिकारी ने बताए निर्देश

ब्रेकिग न्यूज
असोथर फतेहपुर

जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह तथा पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत वर्मा की अध्यक्षता में आज दिनांक 5/11/2020 को थाना असोथर एवं थाना थरियांव में पराली जला जाने की घटनाओं पर रोक लगाए जाने हेतु ग्राम प्रधानों चौकीदारों के साथ जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिलाधिकारी महोदय द्वारा ग्राम प्रधानों एवं चौकीदारों को निम्नलिखित बिंदुओं पर अवगत कराते हुए पराली जला जाने की घटनाओं पर रोक के लिए प्रमुखता से भागीदारी करने हेतु अपेक्षा की गई–

किसानों को अवगत कराएं कि पराली जला जाने की घटनाएं घटनाओं का विवरण यथा – पराली जलाए जाने का समय /दिन – रात एवं उसकी तीव्रता, अक्षांश एवं देशांतर सहित सेटेलाइट के माध्यम से कैप्चर किए जाते हैं ।अक्षांश एवं देशांतर की मदद से पराली जलाए गए खेत में आसानी से पहुंचा जा सकता है।अतएव किसानों द्वारा दिन या रात में पराली जलाए जाने पर सेटेलाइट की नजर से नहीं बचा जा सकता है।*

• पराली जलाए जाने से मिट्टी में किसान मित्र कीट नष्ट हो जाते हैं तथा भूमि की उर्वरता कम हो जाती है।

• पराली का paddy straw chopper super SMS, mulcher आदि की मदद से सही तरीके से प्रबंध करने से भूमि की उर्वरता भी बढ़ जाती है।

• कृषि विभाग द्वारा जिन किसानों को सब्सिडी पर उपरोक्त कृषि उपकरण दिए गए हैं वे सभी कृषकों को पराली के प्रबंधन हेतु न्यूनतम दर पर यंत्र उपलब्ध कराएंगे।

• कृषि ,राजस्व ,पंचायत /विकास विभाग तथा पुलिस विभाग के ग्राम स्तरीय कर्मचारियों की गठित समिति न्याय/ग्राम पंचायत स्तर पर पराली के संबंध में जागरूकता गोष्ठियां आयोजित करेंगे।

• उपरोक्त के बावजूद यदि
किसी व्यक्ति के द्वारा पराली जलाई जाती है ,तो उसके विरुद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट तथा रूपए 2500 से ₹15000 तक के जुर्माने की कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

संवाददाता महेश कुमार
UFT NEWS असोथर फतेहपुर