मंडलायुक्त एसवीएस रंगाराव देवीपाटन मंडल ने किया

संवाददाता राधेश्याम गुप्ता

कोविड-19 बचाव व रोकथाम, बाढ़ राहत एवं बचाव कार्य की समीक्षा

  • मंडला आयुक्त ने किया एकीकृत कोविड-19 एंड कंट्रोल सेंटर का औचक निरीक्षण कंट्रोल रूम प्रभारी को दिए आवश्यक दिशा निर्देश।
  • जनपद बलरामपुर के एक दिवसीय भ्रमण के दौरान मंडला आयुक्त देवीपाटन मंडल द्वारा कलेक्ट्रेट में कोविड-19 से बचाव व रोकथाम बाढ़ राहत एवं बचाव कार्य के संबंध में जिलाधिकारी व अन्य संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की गई। आयुक्त देवीपाटन मण्डल गोण्डा एस0वी0एस0 रंगाराव ने निर्देश दिया कि अधिक से अधिक लोगों की जाॅच करायी जाय, अति संवेदनशील क्षेत्रों, कन्टेनमेन्ट जोन, मलिन बस्तियों तथा प्रतिदिन ट्रेवलिंग करने वाले अधिकाधिक लोगों के नमूने एकत्र कर जाॅच करायें। मंडला आयुक्त द्वारा जनपद में प्रतिदिन किए जा रहे सैंपलिंग, कोरोना से अब तक मृत्यु , कुल कोरोना पॉजिटिव केस व कितने व्यक्ति स्वस्थ हो गए आदि के संबंध में जानकारी ली गई। मंडला आयुक्त द्वारा कंटेंटमेंट दोनों में शत-प्रतिशत किए जाने सैंपल इंग किए जाने का निर्देश दिया गया। मंडला आयुक्त द्वारा डब्ल्यूएचओ के जिला समन्वयक डॉ उपांत डोगरे से कोरोना संक्रमण के संबंध में फीडबैक लिया गया। पुलिस अधीक्षक देवरंजन वर्मा ने बताया कि जनपद में कोरोना से बचाव के संबंध में लोगों को जागरुक किए जाने हेतु पुलिस विभाग द्वारा लगातार गांव व शहरी क्षेत्रों में मुनादी कराई जा रही है , लोगों को मास्क के प्रयोग व सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराए जाने के संबंध में जागरूक किया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 10 जून से 8050 व्यक्तियों का कोरोना चालान किया जा चुका है व 18 लाख जुर्माना वसूल किया जा चुका है । बाढ़ बचाव और राहत की समीक्षा के दौरान मंडला आयुक्त द्वारा जनपद में बाढ़ की तैयारियों के संबंध में जानकारी ली गई। मंडला आयुक्त द्वारा राप्ती नदी द्वारा कटान को लेकर अधिशासी अभियंता बाढ़ खंड से स्थिति का जायजा लिया गया। अभियंता अधिशासी अभियंता बाढ़ खंड ने बताया कि समस्त कटान वाले स्थानों पर कटान निरोधक कार्य युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है । जिलाधिकारी बलरामपुर ने बताया कि जनपद में 31 बाढ़ चौकी व 18 बाढ़ राहत केंद्र बनाए गए हैं। जनपद के तीनों तहसीलों में 60 नावें लगाई गई है। जनपद में 24 कटान बिंदु है जहां पर लगातार कटान निरोधक कार्य किए जा रहे हैं। जनपद में 17 तटबंध है व सभी सुरक्षित है। बाढ़ से बचाव को लेकर समस्त तैयारियां पूर्ण है। इसके उपरांत मंडला आयुक्त द्वारा एकीकृत कॉमेंट कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया गया इस दौरान मंडला आयुक्त द्वारा कंट्रोल रूम में लगे कर्मचारियों की उपस्थिति रजिस्टर चेक किया गया। मंडला आयुक्त द्वारा कोविड-19 कंट्रोल रूम प्रभारी को कंटेंटमेंट जोन में लोगों को होम डिलीवरी की सुविधाएं प्राप्त हो रही है कि नहीं इसकी जानकारी फोन करके दिए जाने का निर्देश दिया गया। L1 हॉस्पिटल में भर्ती व होम आइसोलेशन मे रह रहे कोरोना मरीजों को फोन करके उनको दी जा रही सुविधाओं की जानकारी प्राप्त किए जाने का निर्देश दिया गया। मंडला आयुक्त द्वारा कंट्रोल रूम में 108 एंबुलेंस रजिस्टर मेंटेन किए जाने के संबंध में निर्देश दिया गया। मंडला आयुक्त द्वारा कंट्रोल रूम में प्राप्त हो रही शिकायतों का तुरंत निस्तारण किए जाने के संबंध में निर्देशित किया गया।
    इस दौरान जिलाधिकारी बलरामपुर कृष्णा करुणेश, पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा , मुख्य विकास अधिकारी अमनदीप डूली, अपर जिलाधिकारी अरुण कुमार शुक्ल, सीएमओ डॉ घनश्याम सिंह, अपर सीएमओ डॉ एके सिंघल, एसडीएम बलरामपुर सदर नागेंद्र नाथ यादव , एसडीएम तुलसीपुर, तहसीलदार उतरौला, अधिशासी अभियंता बाढ़ खंड के के दिवाकर, एसडीओ बाढ़ खंड ए एन अंचल व अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।